02 Mar 2021, 15:52:45 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport » Cricket

सिराज ने कहा - मेरे पास अभी आराम करने का समय नही है, क्‍योंकि मैं अब...

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jan 22 2021 11:56AM | Updated Date: Jan 22 2021 11:56AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

हैदराबाद। आस्ट्रेलिया दौरे पर टेस्ट में पदार्पण करके शानदार प्रदर्शन करने वाले भारत के युवा तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने गुरुवार कहा कि वह इस आत्मविश्वास को आगे भी जारी रखना चाहते हैं और अपने प्रदर्शन में निरंतरता बनाए रखना चाहते हैं। आस्ट्रेलिया में लगातार दूसरी बार ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज 2-1 से जीतने के बाद भारतीय टीम के साथ स्वदेश लौटे सिराज ने कहा कि उनके पास आराम करने का समय नहीं है और अब वह बिना देरी किए अगले मैच पर ध्यान देना चाहते हैं। आस्ट्रेलिया दौरे पर अपने तीन टेस्टों में 13 विकेट लेने वाले सिराज ने कहा कि वह अपना प्रत्येक विकेट अपने स्वर्गीय पिता को समर्पित करते हैं। सिराज ने कहा, "जब भी मैंने प्रदर्शन किया है तो मैंने अपने पिता को याद किया है। वास्तव में, मैं उन्हें अपने हर अच्छे प्रदर्शन के बाद बुलाने के बारे में सोच रहा था, लेकिन बाद में मैंने महसूस किया कि वह अब इस दुनिया में नहीं हैं। मुझे उनकी बहुत याद आती है। अल्लाह उन्हें जन्नत दें।
 
ब्रिस्बेन में खेले गए अंतिम टेस्ट मैच की शुरुआत से पहले जब राष्ट्रगान बजा था, तब वह गमगीन हो गए थे। इसी मैच में सिराज ने जब पांच विकेट लिए तब भी उन्होंने हाथ ऊपर करते हुए अपने पिता को याद किया। सिराज ने कहा कि जब उन्हें ऑस्ट्रेलिया में अपने पिता के निधन की खबर मिली तो वह उदास हो गए। उन्होंने कहा, "यह मुश्किल था। यह अवसादपूर्ण था।
 
मैंने अपने परिवार के सदस्यों से बात की। उन्होंने मुझे वहीं वापस रहने को कहा और टेस्ट मैचों में बेहतर प्रदर्शन करके पिता के सपने को पूरा करने को कहा के लिए कहा। टीम ने भी मेरा समर्थन किया। सिराज गुरुवार को अपने घर हैदराबाद पहुंचे। घर पहुंचकर सिराज सबसे पहले अपने पिता की कब्र पर गए, जिनका निधन उस समय हो गया था, जब सिराज आस्ट्रेलिया में थे। कठिन क्वारंटीन नियमों के कारण सिराज अपने पिता के अंतिम संस्कार के लिए स्वदेश नहीं आ सके थे। पूरी सीरीज के दौरान सिराज ने हर अच्छे पल के साथ अपने पिता को याद किया। उन्होंने कहा कि जब वह अपने पिता के कब्र पर पहुंचे और उनके कब्र पर फूल चढ़ाया तो वह पल उनके लिए भावुक भरा था। उन्होंने कहा, "जब मैं घर में पहुंचा तो मेरी मां रो रही थी। मैंने मजबूत होने की कोशिश की और उन्हें सांत्वना देने की कोशिश की।"
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »