14 Aug 2020, 13:01:51 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport » Cricket

इंग्लैंड ने 1 साल पहले जीता था क्रिकेट वर्ल्डकप, फिर भी हुई...

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 13 2020 7:20PM | Updated Date: Jul 13 2020 7:21PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

क्रिकेट का जन्मदाता कहे जाने वाले देश इंग्लैंड ने करीब 1 साल पहले अपना पहला आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप का खिताब जीता था। इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने न्यूजीलैंड को सुपर ओवर में मात दी थी, और 44 साल बाद अपना पहला क्रिकेट वर्ल्ड कप जीता। क्रिकेट वर्ल्ड कप फाइनल में बेन स्टोक्स ने मैच विनिंग पारी खेली, जिसके लिए स्टोक्स को मैन ऑफ द मैच का खिताब भी दिया गया था। क्रिकेट वर्ल्ड कप इतिहास में ये सबसे रोमांचक मुकाबला हुआ था, जिसका नतीजा बड़े अजीबो गरीब नियम से दिया गया था।

आईसीसी ने हालांकि अब उस नियम को हटा लिया है, लेकिन इस नियम को अब जिंदगी भर याद रखा जाएगा। सभी क्रिकेट प्रशंसक और बड़े क्रिकेटर्स भी इस बात को माना था कि न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के साथ नाइंसाफी हुई है। हालांकि आईसीसी का ये नियम पहले से था, और अगर इस आधार पर न्यूजीलैंड को जीत दी जाती तो न्यूजीलैंड क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 का बादशाह होता।

चौकों के आधार पर इंग्लैंड ने जीता था विश्वकप 2019 : न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड को 242 रनों का लक्ष्य दिया, तो इंग्लैंड क्रिकेट टीम में बेन स्टोक्स ने कमाल की बल्लेबाजी की। इंग्लैंड क्रिकेट टीम जीत हासिल नहीं कर सकी लेकिन टीम स्कोर को बराबर कराने में सफल रही। आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 रोमांचक मोड़ पे आया जब सुपर ओवर के जरिए मैच के नतीजे का फैसला होने का निर्णय हुआ। लेकिन सुपर ओवर भी टाई हुआ, तो लोगों को लगा कि अब एक और सुपर ओवर खेला जाएगा लेकिन नहीं इंग्लैंड को जीत दी जा चुकी थी।

लोगों को पहली बार पता चला आईसीसी का ये नियम : आईसीसी ने नियम के आधार पर बॉउंड्री ज्यादा होने के चलते इंग्लैंड क्रिकेट टीम को जीत दे दी, और इस तरह इंग्लैंड पहली बार आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप विजेता बन गया। सिर्फ न्यूजीलैंड या इंग्लैंड ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में इस नियम की आलोचना हुई, और समझा गया कि ये न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के साथ नाइंसाफी है। हालांकि इस विरोध के बाद आईसीसी ने इस नियम को हटा लिया था।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »