11 Dec 2019, 16:51:10 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

दि हंस फाउंडेशन गांधी के रास्ते पर चलकर स्वर्णिम इतिहास लिखे

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 4 2019 2:10AM | Updated Date: Nov 4 2019 2:10AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। भारत रत्न से अलंकृत पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने सामाजिक विकास के लिए काम करने वाले स्वैच्छिक संगठन ‘दि हंस फाउंडेशन’ के योगदान की सराहना करते हुए रविवार को कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के बताये सेवा के मार्ग पर चलते हुए यह संगठन अब स्वर्णिम इतिहास की ओर बढ़े। दि हंस फाउंडेशन की 10वीं वर्षगांठ पर आयोजित समारोह में श्री मुखर्जी के अलावा उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर एवं देश-विदेश के प्रबुद्धजन भी सम्मिलित हुए। सभी अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलित कर एवं हंस जी महाराज एवं माता राजराजेश्वरी देवी जी चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित किये। मुखर्जी ने फाउंडेशन के संस्थापक भोले महाराज एवं माता मंगला जी, फाउडेंशन की अध्यक्ष श्वेता रावत एवं सह-संस्थापक मनोज भार्गव जी को बधाई देते हुए कहा कि आज आप सबके लिए बहुत महत्वपूर्ण दिन है।

 

आपकी संस्था दस वर्ष की यात्रा तक कर चुकी हैं और अब इस यात्रा को स्वर्णिम इतिहास की और बढ़ना है। इसके लिए वह आपकी पूरी टीम को बधाई देते हैं। मुखर्जी ने  कहां की देश में इस साल महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाई जा रही। गांधी जी के विचार और उनकी सोच को सेवा के मार्ग पर उकेरते हुए द हंस फाउंडेशन जिस तरह से हर जरूरतमंद व्यक्ति के साथ खड़ा है, इसके लिए संस्था के संस्थापक बधाई के पात्र हैं। देश में हर क्षेत्र में विकास के पायदान पर द हंस फाउंडेशन महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है और स्वास्थ्य-शिक्षा,रोजगार और पलायन रोकने की दिशा में जो काम कर रहा है। यह हम सब के लिए सुखद है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं आग्रह करूंगा कि आप अपनी इस यात्रा में निरंतर ऐसे ही आगे बढ़ते  रहे, उन लोगों के लिए सेवा के लिए कार्य करते रहे।

 

जिन लोगों को आज सबसे  ज्Þयादा मदद की आवश्यकता होती है। देश के उन क्षेत्रों में काम करें। जहां  आज के समय में सही मयाने में काम करने की आवश्यकता है।’’ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री रावत ने हंस फाउण्डेशन द्वारा समाज के व्यापक हित में किये जा रहे कार्यों को समाज के लिये वरदान बताया। देश के साथ ही उत्तराखण्ड में स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला सशक्तीकरण, ग्रामीण विकास, कृषक कल्याण एवं राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों की आबादी के जीवन स्तर में सुधार लाने में हंस फाउण्डेशन द्वारा किये जा रहे प्रयासों की भी उन्होंने सराहना की। मुख्यमंत्री ने कहा कि माता मंगला जी के मार्गदर्शन में हंस फाउंडेशन उत्तराखंड में विजन 2020 पर काम कर रहा है। इसमें बिजली, पानी, स्वच्छता, शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार एवं महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ सुधार की दिशा में कार्य किया जा रहा है।

 

स्वास्थ्य के क्षेत्र में फाउंडेशन देश भर में मेडिकल मोबाइल वैन के जरिए उन गावों तक पहुंच रहा है जहां प्राथमिक स्वास्थ्य जैसी सुविधाएं नहीं है। रावत ने कहा कि फाउण्डेशन द्वारा गरीबों के लिए मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल और आई हॉस्पिटल भी बनवाए हैं, जहां गरीबों के लिए मुफ्त इलाज की व्यवस्था है। सतपुली में भी फाउंडेशन द्वारा ऐसा ही अस्पताल संचालित किया जा रहा है। फाउंडेशन लगभग 50 मेडिकल मोबाइल वैन भी चला रहा है जिससे लाखों लोगों को स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है। फाउंडेशन द्वारा जिला अस्पतालों में मॉडर्न आइसीयू बनाने में भी सहयोग किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मिड डे मील के तहत हाल ही में उत्तराखंड सरकार और अक्षयपात्र के साथ मिलकर फाउंडेशन ने नौ मिड डे मील किचन बनवाने का फैसला किया है जिसकी लागत लगभग 70 करोड़ रुपए है।

 

इन मिड डे मील किचन के जरिए 3,90,000 बच्चों को स्कूलों और आँगनवाड़ियों में गर्म और पौष्टिक आहार दिया जाएगा। फाउण्डेशन द्वारा गवर्नमेंट के 100 स्कूलों में आधुनिक विज्ञान प्रयोगशालाएं एवं स्मार्ट क्लॉसेजÞ का काम भी चल रहा है। इसके अलावा हंस सांस्कृतिक केन्द्र द्वारा 8 निजी स्कूलों को गोद भी लिया गया है। जहां बच्चों को निशुल्क शिक्षा तथा मिड डे मील की सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है। फाउण्डेशन द्वारा विकलांग जनों के कल्याण के लिए भी कार्य किया जा रहा है। इस मौके पर कार्यक्रम में शामिल अतिथियों द्वारा हंस फाउंडेशन की 'कॉफी टेबल बुक' का लोकार्पण किया गया। साथ ही अपने-अपने क्षेत्रों में संघर्षों के माध्यम से नया मुकाम हासिल करने वाले 'द हंस फाउंडेशन' के विजेताओं को सम्मानित किया गया। इस मौके पर आयोजित रंगारंग कार्यक्रम में पद्मश्री शोभना जी का नृत्य,पार्श्व गायक सुरेश वाडेकर और श्रीलंका से आए सीलोन चैंबर चौयर की कलाकारों की प्रस्तुति ने सभागार में उपस्थिति श्रोताओं का मनमोह लिया। कार्यक्रम का संचालन मशहूर टीवी धारावाहिक तारक मेहता का उल्टा चश्मा के मुख्य पात्र शैलेश लोढा ने किया।

 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »