18 Sep 2019, 23:03:15 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

प्रांतीय चुनाव में पीटीआई और निर्दलीयों ने मारी बाजी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 22 2019 1:30PM | Updated Date: Jul 22 2019 1:30PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

पेशावर। पाकिस्तान के कबायली क्षेत्रों के विलय के बाद खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के विधानसभा के लिए पहली बार हो रहे एतिहासिक चुनाव में निर्दलीय उम्मीदारों को छह सीटें, सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) को पांच और जमीयत-उलेमा-ए इस्लाम-फजल (जेयूआई-एफ) को तीन सीटें मिली हैं। प्रांत के 16 जिलों में मतदान शनिवार सबुह शुरू हुआ और पांच बजे समाप्त हो गया था। पाकिस्तान के चुनाव आयोग के अनुसार जमात-ए-इस्लामी को एक सीट मिली है और अवामी नेशनल पार्टी (एएनपी) ने भी एक सीट जीती है।
 
मतदान के दौरान अति संवेदनशील 554 मतदान केंद्रों के अंदर और बाहर सुरक्षा बल तैनात किये गये थे। प्रांतीय चुनाव आयुक्त के अनुसार क्षेत्र में नेटवर्क समस्या की वजह से कबलायली जिलों के परिणाम व्हाट्सअप पर दिये गये। जियो न्यूज के अनुसार चुनाव के लिए कुल 1,897 मतदान केंद्र स्थापित किये गये थे। 16 सीटों के लिए 282 उम्मीदवार चुनावी मैदान में थे जिनमें पीटीआई, जेयूआई-एफ, एएनपी, मुस्लिम लीग-नवाज, जमात-ए-इस्लामी, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी और निर्दलीय उम्मीदवार शामिल हैं।
 
खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के चुनाव में दो महिला उम्मीदवार भी चुनावी मैदान में थीं जिनमें अवामी नेशनल पार्टी की उम्मीदवार नाहिद अफरीदी और जमात-ए-इस्लामी की उम्मीदवार मलासा बीबी शामिल हैं। चुनाव में दो महिला उम्मीदवार भी अपनी किस्मत आजमा रही हैं। अवामी नेशनल पार्टी (एएनपी) की नाहिद अफरीदी रूढ़िवादी खैबर जिले के पीके106 निर्वाचन क्षेत्र से जीत की ओर अग्रसर हैं। इस निर्वाचन क्षेत्र में कुल 148,470 मतदाता है जिनमें 65,652 (44 प्रतिशत) महिलाएं हैं।
 
दूसरी महिला उम्मीदवार मलासा बीबी हैं जो जमात-ए-इस्लामी (जेआई) उम्मीदवार के तौर पर कुर्रम जिले में पीके109 संसदीय सीट से अपनी किस्मत आजमा रही हैं। उनके निर्वाचन क्षेत्र में कुल 187,844 मतदाताओं में से 82,560 (44 प्रतिशत) महिलाएँ हैं। गौरतलब है कि पाकिस्तान में संविधान संशोधन के बाद वर्ष 2018 में संघीय प्रशासित कबायली क्षेत्रों (फाटा) को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में मिला दिया गया था जिसके बाद इस क्षेत्र में पहली बार प्रांतीय चुनाव हुआ है।  
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »