19 Jan 2022, 01:20:41 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

वरुण गांधी ने दिया बड़ा बयान- लखीमपुर खीरी में हिंदुओं और सिखों को लड़ाने की कोशिश

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 10 2021 3:56PM | Updated Date: Oct 10 2021 4:31PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्‍ली। लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर भाजपा सांसद वरुण गांधी ने एक बार फिर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद यहां हिंदू बनाम सिख करने के प्रयास चल रहे हैं।
 
गांधी ने ट्वीट किया, 'लखीमपुर खीरी को हिंदू बनाम सिख लड़ाई में बदलने की कोशिश की जा रही है। यह एक अनैतिक और झूठा आख्यान है। इस तरह की अफवाह फैलाना और उन घावों को फिर से कुरेदना खतरनाक है, जिसे ठीक करने में एक पीढ़ी लग गई। हमें राष्ट्रीय एकता से ऊपर राजनीतिक लाभ नहीं रखना चाहिए।'
 
 
पीलीभीत के सांसद, जिन्हें हाल ही में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से हटा दिया गया था, ने कहा कि लखीमपुर खीरी में न्याय के लिए संघर्ष "एक अभिमानी स्थानीय सत्ता अभिजात वर्ग के सामने गरीब किसानों के क्रूर नरसंहार"को लेकर है, और इस मुद्दे का कोई धार्मिक अर्थ नहीं है।
 
उन्होंने कहा, "प्रदर्शनकारी किसानों का वर्णन करने के लिए 'खालिस्तानी' शब्द का इस्तेमाल करना न केवल तराई के इन गौरवशाली बेटों की पीढ़ियों का अपमान है, जिन्होंने हमारी सीमाओं पर लड़ाई लड़ी और खून बहाया है, बल्कि यह हमारी राष्ट्रीय एकता के लिए भी बेहद खतरनाक है। यह गलत तरह की प्रतिक्रिया को भड़काता है।"
 
पुलिस ने 3 अक्टूबर को लखीमपुर हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को गिरफ्तार किया था। किसान संगठनों ने घटना के लिए पिता-पुत्र की जोड़ी को जिम्मेदार ठहराया है और आरोप लगाया है कि मंत्री ने भड़काऊ भाषण दिया था, जबकि उनका बेटा एक वाहन के अंदर था जिसने किसानों को टक्कर मार दी थी। दोनों ने आरोपों से इनकार किया है।
 
आशीष मिश्रा का नाम प्राथमिकी में उन आरोपों के बाद दर्ज किया गया था जिनमें आरोप लगाया गया था कि पिछले रविवार को उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की यात्रा का विरोध कर रहे चार किसानों को कुचलने वाले वाहनों में से एक में वह भी थे।
 
जवाबी कार्रवाई में गुस्साए किसानों ने भाजपा के दो कार्यकर्ताओं और उनके ड्राइवर की कथित तौर पर पीट-पीट कर हत्या कर दी। स्थानीय पत्रकार रमन कश्यप की भी हिंसा में मृत्यु हो गई, जिसने राजनीतिक तूफान खड़ा कर दिया और भाजपा सरकार को चुनावी यूपी में बैकफुट पर ला दिया। गांधी तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के विरोध के प्रति सहानुभूति रखते हैं और अक्सर उनके समर्थन में ट्वीट करत रहे हैं।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »