26 Jan 2022, 10:01:16 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business

IRCTC के Shares में बड़ी गिरावट, सरकार ने उटाया ये बढ़ा कदम

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 29 2021 2:25PM | Updated Date: Oct 29 2021 2:25PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्‍ली। भारतीय रेल्‍वे  ने IRCTC से Convenience fees साझा करने का फैसला वापस ले लिया है। Dipam के सेक्रेटरी ने हालिया Tweet कर इसकी जानकारी दी। उन्‍होंने कहा कि रेल मंत्रालय ने IRCTC Convenince Fee पर फैसले को वापस ले लिया गया है। इस फैसले के बाद IRCTC के शेयरों में थोड़ी रिकवरी देखी गई। क्‍योंकि यह फैसला आने के बाद IRCTC के शेयर करीब 29 फीसद नीचे चले गए थे। IRCTC का CMP 860 रुपए चल रहा है। एक दिन पहले ही रेलवे ने अपनी ऑनलाइन टिकट बुकिंग इकाई आईआरसीटीसी (IRCTC) से कहा था कि वह अपनी वेबसाइट पर बुकिंग करने के वास्ते लिये जाने वाले सुविधा शुल्क से प्राप्त राजस्व का 50 प्रतिशत हिस्सा रेलवे के साथ साझा करे। यह व्यवस्था महामारी की शुरुआत के बाद से रोक दी गई थी। गुरुवार को IRCTC ने सेबी को बताया कि रेलवे ने कहा है कि राजस्व साझा करने की व्यवस्था एक नवंबर से लागू होगी। ग्राहकों से लिया जाने वाला सुविधा शुल्क टिकट के भाड़े में शामिल नहीं होता और यह वेबसाइट के जरिये टिकट बुक करने की आईआरसीटीसी द्वारा सुविधा देने के लिए वसूला जाता है।
 
इस बीच, चेन्नई मैसूर शताब्दी एक्सप्रेस दक्षिण रेलवे की पहली आईएमएस सर्टिफाइड ट्रेन बन गई है। दक्षिण रेलवे की यह पहली ऐसी ट्रेन सेवा है, जिसने आईएसओ 9001:2015, आईएसओ 14001:2015 और आईएसओ 45001:2018 के साथ आईएमएस प्रमाण-पत्र प्राप्त किया है। आईएमएस सर्टिफाइड ट्रेन के मामले में यह भारतीय रेलवे की पहली शताब्दी और भारतीय रेलवे की दूसरी मेल / एक्सप्रेस ट्रेन भी बन गई है। यह भी पढ़ेंसाथ ही हरित परिवहन की दिशा में काम कर रहे भारतीय रेलवे के खाते में गुरुवार को उस समय बड़ी उपलब्धि दर्ज हो गई जब पूरी तरह से बिजली से चलने वाली पहली यात्री ट्रेन ( ब्रह्मपुत्र मेल ) पूर्वोत्तर के असम राज्य में गुवाहाटी के कामाख्या स्टेशन पर पहुंची। इस उपलब्धि के साथ ही ब्रह्मपुत्र मेल पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे में गुवाहाटी के कामाख्या स्टेशन तक बिजली से चलने वाली पहली यात्री ट्रेन बन गई है। वापसी में भी यह ट्रेन कामाख्या स्टेशन से बिजली के ट्रैक पर चलकर ही दिल्ली के लिए रवाना हुई।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »