29 Sep 2021, 02:12:44 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

आगामी 3 वर्षों में अधिकतम पुलिस आवास निर्माण की रहेगी कोशिश: मिश्रा

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Aug 5 2021 9:58PM | Updated Date: Aug 5 2021 9:58PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

भोपाल। मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने आज कहा कि पुलिस के निंश्चितता पूर्वक उत्कृष्ट कार्य करने के लिये आवश्यक इंतजाम के सकल प्रयास सरकार द्वारा किये जा रहे हैं। मिश्रा ने पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों के लिये 8 जिलों में 304 करोड़ 68 लाख रुपये की लागत से नव-निर्मित 1556 आवासों के वर्चुअल लोकार्पण समारोह को संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि आगामी 3 वर्षों में पुलिस विभाग में अधिकतम आवासों के निर्माण के लिये समुचित प्रयास किये जायेंगे। समारोह में पुलिस महानिदेशक  विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव गृह राजेश राजौरा, अध्यक्ष मध्यप्रदेश पुलिस आवास एवं अधोसंरचना विकास निगम विजय यादव, प्रबंध संचालक पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन उपेन्द्र जैन एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।
 
गृह मंत्री ने कहा कि विभाग के कार्य में उत्कृष्टता लाने के लिये जरूरी है कि अधिकारी-कर्मचारियों को बेहतर संसाधन के साथ उपयुक्त वातावरण भी मुहैया कराया जाये। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसे संकट में भी पुलिस विभाग ने पूर्ण कर्त्तव्यनिष्ठा के साथ अपना कार्य किया। हमारे जवानों को शहादत भी देनी पड़ी। मिश्रा ने कहा कि विभाग की विपरीत परिस्थितियों में भी बेहतर कार्य करने की जीजिविषा को दृष्टिगत रखते हुए विभागीय अधिकारी-कर्मचारियों और उनके परिजनों को बेहतर वातावरण उपलब्ध कराने के लिये हमारी सरकार प्रतिबद्ध है।
 
मिश्रा ने कहा कि कर्मचारियों की आवास संबंधी समस्या से निंश्चितता के लिये सरकार निरंतर प्रयास कर रही है। विगत 40 वर्षों से पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन ने प्रतिवर्ष औसतन 800 क्वाटर्स का निर्माण किया है। मुख्यमंत्री पुलिस आवास योजना के अंतर्गत 2 हजार 384 पुलिस आवास-गृहों का निर्माण किया गया है। उन्होंने बताया कि आवासों के लोकार्पण की श्रंखला में कल इंदौर में भी 818 पुलिस आवास-गृहों का लोकार्पण किया जायेगा।
 
पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन के अध्यक्ष विजय यादव ने बताया कि राज्य-स्तर से 304 करोड़ 68 लाख रुपये की लागत से निर्मित 1556 आवास-गृह लोकार्पित किये गये हैं। इनमें सर्वाधिक ग्वालियर के 576 और सीधी तथा बुरहानपुर में 68-68 आवास सम्मिलित हैं। रीवा में 256, सागर में 180, जबलपुर में 152 और छतरपुर तथा धार के 128-128 आवास लोकार्पित किये गये हैं।
 
मिश्रा ने पुलिस आवासों के लोकार्पण अवसर पर विभिन्न जिलों के पुलिसकर्मियों से वर्चुअली संवाद किया। उन्होंने उन्हें नव-निर्मित आवासों के लिये बधाई दी। पुलिसकर्मियों ने भी सरकार द्वारा आवास संबंधी समस्या के निराकरण के लिये किये जा रहे सार्थक प्रयासों पर आभार ज्ञापित किया। मध्यप्रदेश पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन द्वारा निर्मित आवासों में प्राकृतिक हवा एवं प्रकाश के प्रावधान किये गये हैं। आवास निर्माण में अत्याधुनिक शैली एवं उच्च गुणवत्ता की सामग्री का उपयोग किया गया है। बहु-मंजिला आवासों में लिफ्ट के साथ ही परिसर के लिये आवश्यक विकास कार्यों में सीमेंट-कांक्रीट की आंतरिक सड़कें, पार्किंग, बा‘ जल-प्रदाय, बा‘ सीवर लाइन, बा‘ विद्युतीकरण, स्ट्रीट लाइट, सीवेज ट्रीटमंट प्लांट आदि मूलभूत सुविधाओं के साथ ही जल संरक्षण एवं संवर्धन का समावेश परियोजना में किया गया है।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »