18 Apr 2021, 14:44:06 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

रामायण विश्वमहाकोश के प्रथम संस्करण का विमोचन करेंगे योगी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Mar 5 2021 5:34PM | Updated Date: Mar 5 2021 5:35PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

लखनऊ। भारतीय संस्कृति और दुनिया भर के राम भक्तों के लिये गौरव का प्रतीक बनने जा रहे रामायण विश्वमहाकोश का प्रथम संस्करण प्रकाशन के लिए तैयार हो गया है जिसका विमोचन शनिवार को जानकी नवमी के अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। आधिकारिक सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि गोमती नगर के संगीत नाटक अकादमी परिसर में संत गाडगे प्रेक्षा गृह में आयोजित होने जा रहे विमोचन कार्यक्रम में विदेश मंत्रालय के अपर सचिव डा अखिलेख मिश्र समेत देश और दुनिया के कई विद्वान भी मौजूद रहेंगे। अयोध्या शोध संस्थान द्वारा तैयार किया जा रहा रामायण विश्वमहाकोश का संस्करण ई बुक के रूप में भी लांच किया जाएगा। 
 
रामायण विश्व महाकोश के पहले संस्करण का अंग्रेजी भाषा में विमोचन किया जाएगा। एक महीने बाद हिन्दी और तमिल भाषा में प्रथम संस्करण को प्रकाशित किया जाएगा। उत्तर प्रदेश संस्कृति विभाग विदेश मंत्रालय के सहयोग से दुनिया के 205 देशों से रामायण की मूर्त व अमूर्त विरासत संजोकर रामायण विश्वमहाकोश परियोजना को साकार करने में जुटा है। इसके लिए विभाग की ओर से रामायण विश्वमहाकोश कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। कार्यशाला में पश्चिम बंगाल, असम, केरल, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और दिल्ली देश के कई राज्यों से 70 विद्वान शामिल हैं।
 
रामायण विश्वमहाकोश को 200 खंडों में प्रकाशित करने की योजना है। इसके लिए अयोध्या शोध संस्थान ने देश और दुनिया भर में संपादक मंडल और सलाहकार मंडल का गठन किया है। रामायण विश्वमहाकोश के प्रथम संस्करण का डिजाइन भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खड़गपुर ने तैयार किया है । सूत्रों ने बताया कि रामायण विश्वमहाकोश के पहले संस्करण के साथ उड़यिा, मलयालम, उर्दू और असमिया भाषा में भी रामायण के प्रकाशन का विमोचन किया जायेगा।  अयोध्या के बारे में सबसे पुरानी और प्रमाणिक पुस्तक 'अयोध्या महात्म' को वैश्विक स्तर पर विस्तारित करने के लिए इसे अंग्रेजी भाषा में विमोचित किया जायेगा। इस मौके पर कार्यशाला में रामायण विश्वमहाकोश के चित्रों की प्रदर्शनी भी लगायी गयी है। इसमें प्रमुख चित्रों को संजोया गया है । इस अवसर पर ‘रामायण की नारी’ पर आधारित सीनियर एवं जूनियर वर्ग की छात्राओं द्वारा चित्र प्रदर्शनी भी लगाई ।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »