10 Aug 2020, 01:47:45 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

ममता को सत्ता में रहने का अधिकार नहीं, भंग हो विधानसभा : विजयवर्गीय

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 14 2020 6:24PM | Updated Date: Jul 14 2020 6:25PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार सुबह राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से उत्तर दिनाजपुर के हेमटाबाद के विधायक देवेंद्र नाथ राय की संदिग्ध मौत के खिलाफ मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व भाजपा महासचिव और राज्य भाजपा केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने किया। उन्होंने भाजपा विधायक की मौत की सीबीआई जांच की मांग की है। यह भी कहा है कि वर्तमान सरकार को सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। हम मांग करते हैं कि राष्ट्रपति विधानसभा को तुरंत भंग करें।

भाजपा प्रतिनिधिमंडल में विजयवर्गीय के साथ केंद्रीय राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो, सांसद डॉ। स्वपन दासगुप्ता, सांसद राजू बिष्ट और केंद्रीय उप पर्यवेक्षक अरविंद मेनन शामिल थे। विजयवर्गीय ने राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बात की। उन्होंने कहा, "पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र दांव पर लगा हुआ है। अब तक कार्यकर्ताओं की हत्या की जा रही है। भाजपा नेताओं और पदाधिकारियों को रोका जा रहा था। अब जनप्रतिनिधियों की हत्या की जा रही है। इसे बदला जा रहा है।"

उन्होंने कहा, "मैं समझता हूं कि देश के अंदर पश्चिम बंगाल जैसा कोई राज्य नहीं है। जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं, पश्चिम बंगाल में हिंसा बढ़ रही है और भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की जा रही है और आत्महत्या की जा रही है। कोई भी राज्य सरकार एजेंसी निष्पक्ष जांच नहीं कर सकती है। मृत्यु। इस मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए और एक सरकार जहां जन प्रतिनिधियों की सुरक्षा नहीं की जाती है, को सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने राष्ट्रपति से मांग की है कि विधानसभा को तत्काल भंग किया जाए और राज्यपाल को रिपोर्ट की जाए। विजयवर्गीय ने कहा कि पश्चिम बंगाल में अब तक 105 भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है, लेकिन किसी भी दोषी को दोषी नहीं ठहराया गया है।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »