02 Apr 2020, 08:19:15 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Others

मुरादाबाद में हाई अलर्ट, जुम्मे की नमाज के बाद शांति

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 28 2020 4:47PM | Updated Date: Feb 28 2020 4:48PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मुरादाबाद। दिल्ली में फैली हिंसा और उत्तराखंड के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी के उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में दिये विवादित बयान के बाद शुक्रवार को जुम्मे की नमाज को लेकर जारी हाई अलर्ट के कारण नमाज शान्ति पूर्वक संपन्न हो गयी। पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि  उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में हाई अलर्ट जारी किया गया था। शुक्रवार को जुम्मे की नवाज शांति पूर्वक संपन्न हो गयी। नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) को लेकर दिल्ली में हिंसा होने के बाद मुरादाबाद में भी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी अलर्ट हैं।
 
शुक्रवार को जुमे की नमाज के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। नमाज के दौरान ईदगाह से लेकर जामा मस्जिद तक का इलाका सुरक्षा बलों की मुस्तैदी से दिनभर छावनी बना रहा। सुबह से ही चाक चौबंद व्यवस्था थी। पुलिस अधीक्षक (शहर)अमित कुमार आनंद व सिटी मजिस्ट्रेट लालता प्रसाद शहर के अंदरूनी इलाकों में गुरूवार रात से बैठकें कर रहे थे। आनंद ने बताया कि प्रत्येक थाने में क्यूआरटी की टीमें गठित की गई हैं। सभी से शांति बनाए रखने की अपील की।
 
उन्होंने कहा कि माहौल बिगाडने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक ने बताया कि दिल्ली हिंसा के बाद शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस ने व्यापक इंतजाम किए हैं। मुरादाबाद मंडल के अलावा बरेली रेंज से भी पुलिस बुलाई गई है। इसमें ऐसे पुलिस कर्मियों को कॉल किया गया है, जो पूर्व में मुरादाबाद में तैनात रह चुके हैं।
 
जुम्मे की नमाज को लेकर पुलिस की व्यवस्था में एक कंपनी रेपिडैक्स एक्शन फोर्स(आरएएफ), पीएसी की एक प्लाटून, 600 पुलिसकर्मी, 20 पुलिस इंस्पेक्टर, सौ महिला पुलिस, 250 पुरुष पुलिसकर्मी, वहीं यूपी 112 सेवा के दस वाहन, जबकि क्यूआरटी की आठ टीम शहर के संवेदनशील इलाकों में इस तरह से तैनात की गई थीं जिससे किसी भी बवाल की सूचना मिलने पर उन्हें तीन से चार मिनट में पहुंचने के निर्देश दिए गए हैं। क्यूआरटी टीम में अत्याधुनिक उपकरणों से लैस आठ पुलिस कर्मियों को शामिल किया गया।
 
उन्होंने बताया कि मुरादाबाद जिले को आठ जोन में बांटा गया है। चार जोन शहर में और चार देहात में बनाए गए हैं। बवालियों पर नजर रखने के लिए संवेदनशील स्थानों पर दो सौ से अधिक सीसीटीवी लगाए गए हैं। लगातार मानीटरिंग की जाएगी। इसके अलावा ड्रोन कैमरों से भी लगातार वीडियोग्राफी की जा रही है। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »