10 Apr 2020, 09:44:22 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

ओडीओपी से पांच लाख नौजवानों को मिला रोजगार : योगी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 17 2020 1:11AM | Updated Date: Feb 17 2020 1:14AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ओडीओपी यानी ‘एक जिला, एक उत्पाद योजना’ योजना से राज्य के पांच लाख लोगों नौजवानों को रोजगार मिले हैं। योगी ने पंडित दीन दयाल हस्तकला संकुल में आयोजित ओडीओपी पर आधारित दो दिवसीय प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत करते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में देश तेज गति से पांच ट्रिलियन डॉलर अर्थ व्यवस्था वाला देश बनने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। ओडीओपी उसमें काफी सहायक साबित हो सकता है। उन्होंन कहा कि पारंपरिक उद्यम, कारीगरों एवं शिल्पियों के आर्थिक स्वावलंबन हेतु प्रदेश सरकार द्वारा वर्ष 2018 में ‘एक जनपद एक उत्पाद’ का अभिनव प्रयास किया गया था। आज इसके अच्छे परिणाम आने लगे हैं। उन्होंने कहा कि इससे पूर्व सूक्ष्म एवं मध्यम उद्योग के क्षेत्र में हताशा का माहौल बना हुआ था।
 
लेकिन बेहत कम समय में 90 लाख सूक्ष्म एवं मध्यम इकाइयां आगे बढ़ती हुइ दिख रही है। निर्यात व्यवस्था को सुदृढ़ किया गया है। प्लास्टिक प्रतिबंधित होने पर दोना-पत्ता बनाने के लिए सोलर मशीन, इलेक्ट्रिक एवं मैनुअल मशीन की व्यवस्था की गई है। पारंपरिक उद्योगों को आर्थिक स्वावलंबन बनाया जा रहा है। संकुल में वाराणसी, मुरादाबाद, सहारनपुर, कानपुर, लखनऊ, अलीगढ़, बुलंदशहर सहित 16 जिलो के उत्कृष्ट शिल्प, प्रदर्शित की गई है। आठ विशिष्ट शिल्प गुलाबी मीनाकारी, सोलर चरखा, दोना-पत्ता इत्यादि के लाइव डेमो प्रदर्शन किया गया। प्रधानमंत्री ने वाराणसी के नौ कॉमन फैसिलिटी सेंटरों के पुनर्जीवीकरन के लिए एक करोड़ पांच लाख रुपये के चेक वितरित किये।
 
इसके अलावा वित्त पोषण योजनाओं के 3 लाभार्थियों को प्रधानमंत्री द्वारा चेक उपलब्ध कराया गया। जिसके साथ ही वित्त पोषण योजनाओं से संबंधित प्रदेश स्तर पर 5000 करोड़ रुपये धनराशि का ऋण लाभार्थियों वितरित किये। 16 जनपदों के एक जनपद एक उत्पाद एवं विश्वकर्मा श्रम सम्मान के प्रशिक्षण प्राप्त 5217  लाभार्थियों को टूलकिट वितरित किये। यह कार्यक्रम राज्य के सभी कारीगर बुनकर को एक सीधा बाजार प्रदान करने के लिए आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में 10,000 बुनकरों एवं कारीगर शामिल हुए। विश्व पटल पर कारीगरों और बुनकरों को वैश्विक पहचान दिलाने के मकसद से आयोजित प्रदर्शनी में अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और यूरोप के प्रसिद्ध ब्रांड/खरीदार भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए। ऑनलाइन पोर्टल जैसे- अमेज़न, फ्लिकार्ट आदि के प्रतिनिधि भी मौजदू थे। गौरतलब है कि श्री मोदी ने अपने भाषण के दौरान मुख्यमंत्री के कार्यों की जमकर सराहना की थी।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »