12 Aug 2020, 06:42:55 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

कोरोना को हराने के लिए दूसरों को करना होगा जागरूक: CM शिवराज

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 11 2020 10:18PM | Updated Date: Jul 11 2020 10:18PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मुरैना। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना को हराने सभी से सहयोग का आह्वन करते हुए आज कहा कि इसे हराने हमें सावधान रहकर दूसरों को भी जागरूक करना होगा। चौहान यहां जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह (डिस्ट्रिक क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप) की बैठक में जिले में कोरोना की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कलेक्टर को निर्देश दिए कि कोरोना संक्रमित मरीज के इलाज में कोई कमी न रहे।
 
सैम्पंिलग में वृद्धि की जाये और समय से पहले कोरोना संक्रमित की पहचान हो सके, जिससे संक्रमण से किसी मरीज की मृत्यु नहीं हो। कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीतने के लिये जिन संसाधनों की भी जरूरत होगी, प्रदेश सरकार उनकी कमी नहीं आने देगी। इस अवसर पर केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, प्रदेश के मंत्री ऐदल सिंह कंषाना, राज्यमंत्री गिर्राज डंडोतिया, महापौर अशोक अर्गल, पूर्व मंत्री रूस्तम सिंह, मुख्यमंत्री के ओएसडी  बीएम शर्मा, आयुक्त जनसम्पर्क सुदामा खाड़े, चंबल कमिश्नर रवीन्द्र कुमार मिश्रा, आईजी मनोज शर्मा, डीआईजी हिंगडकर, कलेक्टर प्रियंका दास, पुलिस अधीक्षक अनुरोग सुजानिया के अलावा अन्य जन प्रतिनिधि मौजूद थे।
 
चैहान ने कहा कोरोना के खिलाफ लड़ाई जनता के सहयोग से ही जीती जा सकती है। जिला प्रशासन एवं पुलिस सभी को भरोसे में लेकर इस अभियान को आगे बढ़ाए। उन्होंने कहा कि खुशी की बात है कि मुरैना चंबल के निवासियों की प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी) बहुत मजबूत है। यही वजह है कि यहां कोरोना मरीजों की मृत्यु दर अत्यंत कम है। उन्होंने कहा कि ग्वालियर में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण रहा है। मगर पिछले एक हफ्ते में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ी है।
 
प्रदेश सरकार इस स्थिति को लेकर पूरी तरह सजग है। मुख्यमंत्री ने कोरोना से बचाव के लिए पुख्ता रणनीति के साथ काम करने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने कलेक्टर को निर्देश दिए कि कोरोना की सैम्प्लिंग में ओर वृद्धि की जाए, जिससे संक्रमित व्यक्ति की समय से पहचान की जाये तथा कोई अप्रिय स्थिति ना बने। जिले में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए चिन्हित अस्पतालों व आइसोलेशन सेंटर में बिस्तर की व्यवस्था बढ़ाना सुनिश्चित करें।
 
साथ ही अस्पतालों में ऑक्सीजन बिस्तरों को बढ़ाने की अगर आवश्यकता हो तो यह भी किया जाए जिससे कोरोना संक्रमित मरीजों का बेहतर से बेहतर इलाज हो सके। क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में मौजूद सदस्यों से मुख्यमंत्री ने आग्रह किया कि कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखकर लॉकडाउन के संबंध में निर्णय लें। उन्होंने कहा बाजार पर्याप्त समय तक खोले जा सकते हैं पर इस बात का ध्यान रखा जाए कि ग्राहक एवं दुकानदार मास्क लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्यत: पालन हो।
 
मुख्यमंत्री ने कलेक्टर से सामुदायिक संक्रमण रोकने के लिये किए जा रहे उपाय, फीवर क्लीनिक की स्थिति, होम आइसोलेशन की सुविधा, कोरोना से निपटने के लिये तैयार की गई नई रणनीति एवं अस्पतालों में भर्ती मरीजों की स्थिति के बारे में जानकारी ली। साथ ही कहा किल कोरोना अभियान को प्रभावी ढंग से अंजाम दें। बैठक में मुख्यमंत्री ने सदस्यों के सुझाव सुने और उन पर अमल करने के निर्देश कलेक्टर को दिए। केन्द्रीय पंचायत राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री तोमर ने कहा कि लॉकडाउन बढ़ाना कोई समाधान नहीं है।
 
लॉकडाउन की एक सीमा होती है, इसके बाद निराकरण ही करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि सभी सामाजिक संस्थाओं, जनप्रतिनिधियों का दायित्व है कि हम सब मिलकर लोंगो को पूरी तरह से जागरूक करें, तभी हम कोरोना की चैन को तोड़ पायेंगे। उन्होंने कहा कि वायरस के मामले में कोई भविष्यवाणाी नहीं की है कि यह कम होगा या ज्यादा हम सभी को इस संकट का सामाना करते हुये इसे रोकना होगा। इसके पीछे दुर्भावना नहीं होना चाहिये। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »