24 Sep 2020, 00:29:00 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

मुख्यमंत्री ने दिखायी तेजस एक्सप्रेस को हरी झंडी, विलंब के कारण नहीं पहुंच सके रेल मंत्री

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jan 17 2020 8:11PM | Updated Date: Jan 17 2020 8:11PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

अहमदाबाद। रेलवे के निजीकरण को लेकर रेल कर्मचारी संघ के विरोध के बीच गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने आज अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलने वाली देश की दूसरी निजी क्षेत्र संचालित तेजस एक्सप्रेस ट्रेन को यहां हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। आईआरसीटीसी इसका नियमित संचालन 19 जनवरी से करेगा तथा यह नडियाद, वडोदरा, भरूच, सूरत, वापी और बोरीवली स्टेशनों पर भी रूकेगी। मजेदार बात यह भी रही कि रेल मंत्री पीयूष गोयल, जो आज अहमदाबाद में थे तथा जिन्हें भी इस कार्यक्रम में शिरकत करनी थी वह ऐसा न कर नर्मदा जिले में स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के स्थल सकेवड़यिा चले गये।
 
रेलवे प्रवक्ता प्रदीप शर्मा ने यूएनआई को बताया कि गोयल केवड़यिा में अपने कार्यक्रम में विलंब के कारण अहमदाबाद के तेजस के कार्यक्रम में भाग नहीं ले सके।  कल देर रात अहमदाबाद पहुंचे थे और आज सुबह उन्हें केवड़यिा में बन रहे एशिया के पहले हरित रेलवे स्टेशन के कार्य का निरीक्षण करने के लिए वहां जाना था और फिर वापस आकर तेजस के कार्यक्रम में भाग लेना था। पर सुबह केवड़यिा में धुंध होने के वजह से उनका हेलीकॉप्टर देर से रवाना हुआ। विलंब होने पर उन्होंने खुद सूचना दी कि वह तेजस के पहले कार्यक्रम को विलंबित नहीं करना चाहते इसलिए मुख्यमंत्री ही इसे झंडी दिखा कर रवाना कर दें।
 
उधर पश्चिम रेलवे कर्मचारी संघ ने अहमदाबाद, वडोदरा और सूरत में तेजस एक्सप्रेस और रेलवे के निजीकरण का विरोध किया। इस मौके पर पुलिस ने 40 से अधिक प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी ले लिया। वडोदरा में रेलवे यूनियन के नेता शरीफ पठान ने कहा कि ऐसे ट्रेन के संचालन से रेलवे के निजीकरण को बढ़ावा मिलेगा। उधर रेलवे प्रवक्ता शर्मा ने कहा कि यह तेजस ट्रेन किसी भी नजरिये से निजी नहीं है। यह ट्रेन रेलवे की है और इसका संचालन करने वाली आईआरसीटीसी भी एक निगम है न कि कोई निजी संस्था। ज्ञातव्य है कि अहमदाबाद मुंबई तेजस एक्सप्रेस गुरूवार को छोड़ कर सप्ताह के अन्य सभी छह दिन चलेगी। इसमें कुल 10 कोच हैं जिनमें से 8 एसी चेयरकार और दो एक्जिक्यूटिव कोच है जिसमें सभी 56 सीटों पर एलईडी स्क्रीन लगी है।
 
इसमें कई अन्य सुविधाएं भी हैं। इसमें कुल 736 यात्री यात्रा कर सकते हैं। इसमें यात्रियों की मदद तथा ऑनबोर्ड शांिपग के लिए एयर होस्टेस की तर्ज पर होस्टेस भी होंगी। यह अहमदाबाद से सुबह छह बज कर 40 मिनट पर चल कर दोपहर 1 बज कर 55 मिनट पर मुंबई सेंट्रल पहुंचेगी। वहां से दोपहर बाद तीन बज कर 40 मिनट पर चल कर रात को नौ बज कर 55 मिनट पर अहमदाबाद पहुंचेगी यानी कुल दूरी लगभग छह घंटे में पूरा करेगी। इसकी औसत गति 160 किमी प्रति घंटा होगी। ट्रेन को हरी झंडी दिखाने के मौके पर रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वी के यादव भी उपस्थित थे।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »