04 Jun 2020, 17:07:21 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Others

दुनिया के ऐसा अनोखा मंदिर जिसमे मुर्तिया करती है आपस में एक-दूसरे से बात

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Apr 8 2020 11:03AM | Updated Date: Apr 8 2020 11:04AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

बिहार। भारत में कई रहस्य्मयी चीजों से भरा हुआ है यहाँ पर कई आइए चमत्कारिक मंदिर है जो अपने अंदर कई रहस्य छुपाये हुए है इन मंदिरो के रहश्यो को आज तक वैज्ञानिक भी समझ नहीं पाए है। आज हम आपको 400 साल पुराने मंदिर के बारे में बताते है जिसमे कई चमत्कार देखने को मिलते है तंत्र साधना के लिए प्रसिद्ध बिहार के बक्सर जिले में स्थिथ राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर तंत्र साधना के लिए मशहूर है जहां साधकों की हर मनोकामना पूरी होती है।
 
हर रोज यहाँ कोई ना कोई चमत्कार देखने को मिलते है जिसको कई लोगो ने देखा है लेकिन जो वो देखते या सुनते हैं उसे दूसरों को समझा पाना या फिर उसे प्रमाणित कर पाना बेहद मुश्किल है बताया जाता है कि यह मंदिर करीब 400 साल पुराना है जिसकी स्थापना एक तांत्रिक भवानी मिश्र ने की थी और उन्हीं के वंशज आज तक इस मंदिर के पुजारी का दायित्व निभाते आए हैं।
 
इस मंदिर में रोज रात को मूर्तियों के बोलने की आवाजे आती है इन आवाजों को सुनकर लगता है की जैसे मंदिर में विराजमान मुर्तिया आपस में बातें करती है आधी रात को यहाँ से गुजरने वाले हर इंसान को ये आवाजे सुनाई देती है हालाँकि पहले लोग इसे सच नहीं मानते थे लेकिन जब वैज्ञानिको ने इस पर रिसर्च किया तब उन्हें इस घटना पर भरोसा करना पड़ा वैज्ञानिको को एक टीम ने रिसर्च करने के बाद कहा की ये आवाज किसी व्यक्ति को नहीं आती उनका मन्ना है की यहाँ कुछ अजीब घटना होता है।
 
जिसके कारन ये आवाज सुनाई देती है वैज्ञानिको की माने तो इस मंदिर की बनावट हो कुछ ऐसी है जिसकी वजह से सूक्ष्म शब्द यहाँ भर्मण करते है दिन में जो लोग यहाँ पर आपस में बात करते है वो बाते रात को यहाँ गूंजती है लेकिन उनका ये अनुमान है यहां के लोगों का मानना है कि तांत्रिक शक्तियों के कारण यहां की देवियां जागृत हैं।
 
इस मंदिर में प्रधान देवी राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी की प्रतिमा के अलावा बगलामुखी माता, तारा माता, दत्तात्रेय भैरव, बटुक भैरव, अन्नपूर्णा भैरव, काल भैरव व मातंगी भैरव की प्रतिमाएं भी स्थापित हैं देवी देवताओं की इन विशेष प्रतिमाओं के साथ काली, त्रिपुर भैरवी, धुमावती, तारा, छिन्नमस्ता, षोडशी, मातंगी, कमला, उग्र तारा, भुवनेश्वरी आदि दस महाविद्याओं की भी मूर्तियां यहां विराजमान हैं। बहरहाल लोगों की आस्था और विश्वास के अनुसार राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर में विराजमान सभी प्रतिमाएं आपस में बाते करती हैं और मंदिर के इस अनसुलझे रहस्य के आगे वैज्ञानिक भी नतमस्तक हो गए हैं।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »