22 Feb 2020, 06:04:14 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business

विद्युत राजस्व संग्रहण में एक हजार छह सौ सतासी करोड़ की वृद्धि

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Dec 31 2019 3:20PM | Updated Date: Dec 31 2019 3:22PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

भोपाल। मध्यप्रदेश में इंदिरा गृह ज्योति योजना लागू होने के बाद विद्युत राजस्व वसूली में लगातार वृद्धि हो रही है। योजना में एक करोड़ से अधिक विद्युत उपभोक्ता लाभान्वित हो रहे है। वर्ष 2018 में जुलाई से नवम्बर तक की तुलना में वर्ष 2019 के इन महीनों में 1 हजार 6 सौ 87 करोड़ रूपये अधिक राजस्व संग्रह हुआ है। आधिकारिक जानकारी में राज्य के ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने बताया कि इस वर्ष नवम्बर माह में कुल 2017 करोड़ विद्युत राजस्व संग्रहण हुआ, जो पिछले साल के नवम्बर माह की तुलना में 413 करोड़ अधिक है।
 
उन्होंने बताया कि प्रदेश की तीनों वितरण कंपनियों ने राजस्व संग्रह में अब तक का उत्कृष्ट योगदान दिया है। पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा नवंबर 2019 में 596 करोड़, मध्य क्षेत्र कंपनी द्वारा 587 करोड़ एवं पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा 834 करोड़ रुपए का राजस्व संग्रह किया गया। पिछले वर्ष इसी अवधि में पूर्व क्षेत्र कंपनी द्वारा 452 करोड़, मध्य क्षेत्र कंपनी द्वारा 488 करोड  एवं पश्चिम क्षेत्र कंपनी द्वारा 664 करोड़ रुपए का राजस्व संग्रह किया गया था।
 
इस नवंबर माह में पूर्व क्षेत्र कंपनी द्वारा 31.71 प्रतिशत, मध्य क्षेत्र कंपनी द्वारा 20.38 प्रतिशत और पश्चिम क्षेत्र कंपनी द्वारा 25.63 प्रतिशत अधिक राजस्व संग्रह किया गया। इसी प्रकार प्रदेश में प्रति यूनिट नगद विद्युत राजस्व वसूली गत वर्ष 2 रुपये 34 पैसे की तुलना में इस वर्ष नवंबर में 4 रुपये 14 पैसे हो गई है। यह गत वर्ष के इसी माह से 77 प्रतिशत अधिक है। पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी में प्रति यूनिट नगद राजस्व वसूली में वृद्धि का प्रतिशत 91.99 और पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी का 81.57 प्रतिशत रहा है।
 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »