22 Oct 2021, 01:27:32 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

कोरोना के बावजूद अर्थव्यवस्था की स्थिति मजबूत: निर्मला सीतारमण

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 24 2021 8:31PM | Updated Date: Sep 24 2021 8:31PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

चंडीगढ़। केंद्रीय वित मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि कोरोना के कारण आई दिक्कतों के बावजूद देश की अर्थव्यवस्था मजबूत है और 1.11 लाख करोड़ से ऊपर का जीएसटी संग्रहण होना अर्थव्यवस्था की बेहतरी का संकेत है।  सीतारमण ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत में यह बात कही। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्म दिवस के उपलक्ष्य में 17 सितम्बर से सात अक्तूबर तक आयोजित किए जा रहे सेवा समर्पण कार्यक्रम में भाग लेने यहां आईं थीं। केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री राष्ट्र के प्रति समर्पित सेवाभाव से कार्य कर रहे हैं। इसलिए देशभर में उनका जन्मदिन सेवा समर्पण कार्यक्रम के रूप में मनाया जा रहा है। केंद्र सरकार ने समाज के सभी वर्गों को ध्यान में रखते हुए सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास के साथ आर्थिक व्यवस्था में सुधार कार्यक्रम लागू किए हैं। इनकी भागीदारी से आर्थिक गतिविधियों में बदलाव आया है। 

उन्होंने बिना अतिरिक्त सहायता लिए सकल घरेलू प्रबंधन में बेहतर कार्य कर अपनी अर्थव्यवस्था को निपुणता से सम्भालने के लिये हरियाणा की सराहना की और कहा कि यह राज्य विकास योजनाओं के लिए बेहतर तरीके से प्रबंधन कर रहा है और जरूरतमंदों तक योजनाओं का लाभ पहुंचा रहा है। स्वामित्व योजना की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि इस योजना से गांव का व्यक्ति भी अपनी जमीन के दस्तावेज दिखाकर बैंकों से ऋण प्राप्त कर रहा है। इससे लोगों में स्वावलम्बन को बल मिला है। इस योजना के लिए उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की खूब सराहना की। 
 
उन्होंने कहा कि गत सात वर्षो से केंद्र सरकार समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के आर्थिक उत्थान के लिए अनेक योजनाएं चला रही है। इन योजनाओं से निम्न वर्ग के लोगों को अपना व्यवसाय चलाने के लिए ऋण दिया जा रहा है। जन-धन खातों का विशेष रूप से जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इन खातों में डीबीटी के माध्यम से अनेक योजनाओं का लाभ गरीब परिवारों तक पहुंच रहा है। मुद्रा, स्टैण्डअप और स्टार्टअप के लिए बिना सिक्योरिटी के ऋण दिया जा रहा है। स्टैंड अप योजना के तहत हर बैंक शाखा के माध्यम से अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं महिला वर्ग को प्रतिवर्ष एक-एक लाख रूपये ऋण देने की योजना चलाई जा रही है। यह योजना केवल शहरी क्षेत्रों ही नहीं बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों के लिए भी है। इसके अलावा बीपीएल परिवारों के लिए अफोर्डेबल हाउसिंग स्कीम क्रियान्वित की गई है। सीतारमण के अनुसार श्री मोदी के नेतृत्व में 2014 से ही अनेक आर्थिक सुधार लागू किए गए हैं। इनमें लाइसेंस और कर प्रणाली का सरलीकरण करना भी शामिल है। एमएसएमई योजनाओं का सरलीकरण कर आम आदमी तक पहुंच बढ़ाई है। इसके अलावा बैंकों के डूबने की स्थिति में पांच लाख रुपये तक की जमा राशि की गारंटी सुनिश्चित की गई है। इस अवसर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं सांसद रतन लाल कटारिया, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ और अन्य भी उपस्थित थे। 
 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »