14 Apr 2021, 15:52:14 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

JP नड्डा ने वाराणसी में बताया चुनावी राजनीति में बूथ की मजबूती का महत्व

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Mar 2 2021 12:16AM | Updated Date: Mar 2 2021 12:16AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

वाराणसी। भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने अपने संगठन के कार्यकर्ताओं को चुनाव में बूथ का महत्व बताते हुए सोमवार को यहां कहा है कि यह किसी भी राजनीति का उत्तम स्थान है जो जिला, प्रदेश एवं देश स्तर की मजबूती देता है। नड्डा ने वाराणसी-चंदौली सीमा पर स्थित पं दीनदयाल उपाध्याय स्मृति उपवन में काशी क्षेत्र के मंडल अध्यक्ष एवं मंडल प्रभारियों के साथ एवं वाराणसी के मध्यमेश्वर मंडल के तहत आने वाले हरतीरथ वार्ड के बूथ नंबर 251 पर इसके अघ्यक्ष राजेश यादव के घर बैठक की।

स्मृति उपवन में बैठक को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हर मंडल प्रभारी ये निश्चित करें कि उसका मंडल सही तरीके से काम कर रहा है तथा तालमेल अच्छा है। उन्होनें हर कार्यकर्ता के लिए काम और हर काम के लिए कार्यकर्ता निश्चित करने की बात कही। संबंधित नेताओं को एक निश्चित अंतराल पर मंडल में प्रवास करने की सलाह देते हुए उन्होंने कहा कि बैठकों का ऐजेंडा तय होना चाहिए। मंडल अध्यक्ष, मंडल प्रभारी तय करें कि शक्तिकेंद्र का प्रमुख बूथों पर जायें, बूथ समितियों के सदस्यों से मिले।

मंडल के प्रत्येक बूथ पर 200 लोगों का व्हाट्सएप ग्रुप बनाएं। नड्डा ने दीप जलाकर पं दीनदयाल उपाध्याय एवं डॉ0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र पर श्रद्धांजलि दी। उन्होंने वाले हरतीरथ वार्ड के बूथ नंबर 251 पर इसके अध्यक्ष राजेश कुमार यादव के यहां बैठक को संबोधित करते हुए कार्यकर्ताओं को जनता से जुड़ने का महत्व बताया। बूथ कार्यसमिति के सदस्यों से कार्यकताओं के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘मन की बात’ सामूहिक रूप से टेलीविजन सुनेने तथा उस पर आधे घंटे उस पर चर्चा करने की सलाह दी।

उन्होंने कार्यकर्ताओं से समाज सेवा एवं उसे दिशा देते हुए देश को मजबूत बनाने में योगदान देने की अपील की। उन्होंने बूथ के कार्यकर्ताओं की सक्रियता बरकरार रखने के लिए कहा कि सभी को एक दूसरे के सुख-दुख में भागीदार बनना चाहिए। दलगत भावना से ऊपर उठकर हमे लोगों का घर, यहां तक कि विरोधियों के यहां भी जाना चाहिए। निश्चित तौर पर उनका मन बदलते हुए उन्हें अपने पक्ष में करना चाहिए। साथ ही क्षेत्र के विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों के यहां निरंतर संपर्क साधते की जरूरत है।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »