10 May 2021, 11:07:20 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

अरविंद केजरीवाल ने कोरोना पर जताई चिंता कहा: पल-पल बिगड़ रहे हालात

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Apr 18 2021 5:39PM | Updated Date: Apr 18 2021 5:40PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना की स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि दिल्ली में पल-पल हालात बिगड़ रहे हैं। केजरीवाल ने रविवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन से फोन पर बात कर दिल्ली में बेड और ऑक्सीजन की कमी की जानकारी दी है और उनसे केंद्र सरकार के अस्पतालों में 10 हजार में से सात हजार बेड कोरोना के लिए सुरक्षित करने की मांग की है, जो अभी केवल 1800 बेड ही सुरक्षित हैं। दिल्ली सरकार अगले दो-तीन दिनों में छह हजार से ज्यादा ऑक्सीजन बेड तैयार कर लेगी।
 
कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज, यमुना स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, राधा स्वामी सत्संग ब्यास के अलावा कुछ स्कूलों में भी बेड लगाए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने साथ मिल कर कोरोना का सामना करने और कर्फ्यू में सहयोग देने के लिए दिल्लीवासियों के साथ ही कई गैर सरकारी संगठनों, डॉक्टर्स की एनजीओ और धार्मिक संगठन को आगे आकर मदद करने के लिए धन्यवाद दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली के अंदर पिछले 24 घंटे में कोरोना के लगभग 25,500 मामले आए हैं। उसके पिछले 24 घंटे में 24,000 केस आए थे और उसके पिछले 24 घंटे में 19,500 केस आए थे। अभी कोरोना के केस बढ़ने की गति चालू है और केस बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं।
 
उन्होंने कहा कि ज्यादा चिंता की बात यह है कि पिछले 24 घंटे में सकारात्मकता दर बढ़ कर करीब 30 फीसद हो गई है, जबकि यह उसके पिछले 24 घंटे में केवल 24 फीसद थी। सकारात्मकता दर पिछले 24 घंटे में 24 फीसद से बढ़कर 30 फीसद हो गई है। केजरीवाल ने कहा कि अभी पूरी दिल्ली का जायजा लिया जाए, तो कोरोना के लिए जो सुरक्षित बेड हैं, वह बेड काफी तेजी से खत्म होते जा रहे हैं। मरीज बहुत तेजी से अस्पतालों में जा रहे हैं। आईसीयू बेड की खासकर कमी हो गई है। पूरी दिल्ली के आईसीयू बेड मिलाकर लगभग 100 से भी कम आईसीयू बेड बचे हुए हैं। ऑक्सीजन की भी काफी कमी है।
 
कल रात एक प्राइवेट अस्पताल ने हमें बताया कि उनके यहां ऑक्सीजन की काफी ज्यादा कमी हो गई थी, जिसकी वजह से त्रासदी होते-होते बची। हम लगातार केंद्र सरकार के संपर्क में भी हैं। उनसे भी मदद मांग रहे हैं और उनसे हमें मदद मिल भी रही है। अभी तक जो भी मदद हमें मिली है, उसके लिए हम केंद्र सरकार का शुक्रिया अदा भी करते हैं। मेरी कल शाम को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से भी बात हुई थी। उनको भी मैंने बताया कि हमें बेड की और ऑक्सीजन की बहुत ज्यादा जरूरत है। आज सुबह केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह जी से भी फोन पर बात हुई है। उनको भी मैंने बताया कि बेड्स की बहुत ज्यादा जरूरत है।
 
केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में केंद्र सरकार के सारे अस्पतालों को मिलाकर के करीब 10 हजार बेड हैं। अभी उसमें से 1800 बेड्स कोरोना के लिए सुरक्षित किए गए हैं। हमारी केंद्र सरकार से निवेदन है कि इतनी गंभीर परिस्थिति में 10 हजार में से कम से कम सात हजार बेड कोरोना के लिए सुरक्षित किए जाएं। दिल्ली में पल-पल पर स्थिति खराब हो रही है, इसलिए 10 हजार में से कम से कम सात हजार बेड कोरोना के लिए सुरक्षित किए जाएं। साथ ही, ऑक्सीजन की हमें तुरंत आपूर्ति की जाए। मैं उम्मीद करता हूं कि दिल्ली सरकार की तरफ से अगले दो-तीन दिनों के अंदर छह हजार से ज्यादा ऑक्सीजन बेड हम तैयार कर लेंगे।
 
जैसा कि आईसीयू बेड की कमी है। हम आईसीयू बेड कितने बढ़ा पाएंगे, इस की एक सीमा है। लेकिन देखने आया है कि अधिकतर मरीजों को हाईफ्लो ऑक्सीजन की जरूरत होती है। हम कई सारे अस्पतालों के अंदर हाईफ्लो ऑक्सीजन का इंतजाम कर रहे हैं, ताकि और हाईफ्लो ऑक्सीजन के बेड लगाए जा सकें। हम अगले कुछ दिनों में छह हजार बेड का यमुना स्पोर्ट्स कंपलेक्स और कॉमनवेल्थ गेम विलेज में बेड का इंतजाम कर रहे हैं। राधा स्वामी सत्संग ब्यास में जो पहले था, उसे हम दोबारा चालू कर रहे हैं। कई स्कूलों के अंदर भी बेड लगाए जा रहे हैं और उनको अस्पतालों के साथ अटैच किया जा रहा है। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »