15 Apr 2021, 16:35:36 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

रानी झांसी फ्लाईओवर पर रार जारी AAP ने बीजेपी से पूछे 5 सवाल

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Mar 8 2021 12:41AM | Updated Date: Mar 8 2021 12:44AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

दिल्ली में रानी झांसी फ्लाईओवर को लेकर राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है। रविवार को आम आदमी पार्टी के नगर निगम प्रभारी दुर्गेश पाठक ने रानी झांसी फ्लाईओवर की ऑडिट रिपोर्ट पर बीजेपी से पांच सवालों के जवाब मांगे हैं। दुर्गेश पाठक ने ऑडिट रिपोर्ट का हवाला देते हुए आरोप लगाया और कहा कि बीजेपी ने रानी झांसी फ्लाईओवर को बनाने में 24 साल लगा दिए। बीजेपी ने 175 करोड़ के बजट के फ्लाईओवर को 724 करोड़ में बनाया और 546 करोड़ का घोटाला किया।

 

AAP के BJP पर आरोप और 5 सवाल

1. जब रानी झांसी फ्लाईओवर बनने का प्रस्ताव आया तो कहा गया कि यह फ्लाईओवर 2 साल के अंदर बनकर तैयार हो जाएगा। जो फ्लाईओवर 2 सालों में बनकर तैयार हो सकता था, उसको बनने में 24 साल क्यों लगे?

2. जब रानी झांसी फ्लाईओवर बनने की बात हुई तो कहा गया कि यह 175 करोड़ रुपये में बन जाएगा, लेकिन असल में इसे 724 करोड़ रुपये में बनाया गया। मेरा प्रश्न ये है कि जिस फ्लाईओवर को 175 करोड़ में बनाया जा सकता था, उसमें 724 करोड़ कैसे लग गए?

3. इस फ्लाईओवर की जमीन जो सरकारी है, उस पर एक छोटा धार्मिक स्थान बना हुआ था। एमसीडी ने उस सरकारी जमीन का अधिग्रहण किया। जो जमीन पहले ही सरकारी है तो एमसीडी उसका अधिग्रहण कैसे कर सकती है। एमसीडी ने इस सरकारी जमीन के अधिग्रहण में लगभग 27 करोड़ रुपयों का भुगतान किया, क्यों?

4. हिंदुस्तान में यह पहला ऐसा मामला होगा जहां पर बीजेपी के नेताओं और इंजीनियरों ने बैठकर जमीन का अधिग्रहण किया। जब जमीन का अधिग्रहण सरकारी एजेंसी की मदद से किया जाता है तो नेताओं और इंजीनियरों को क्यों चयनित किया?

5. आईएलएस नाम की एक कंपनी है, जिसका काम था कि वो प्रोजेक्ट की विस्तृत रिपोर्ट (डीपीआर) बनाकर देगी, जिसके लिए एमसीडी ने कंपनी को 7 करोड़ रुपये दिए, लेकिन उस कंपनी ने आजतक एक भी रिपोर्ट बनाकर नहीं दी। जिसने विस्तृत रिपोर्ट ही नहीं बनाया, आपने उस कंपनी को 7 करोड़ रुपये क्यों दिए?

दुर्गेश पाठक ने कहा कि बीजेपी के नेताओं और प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता से ये हमारे पांच मूल प्रश्न हैं। यदि बीजेपी में कार्यरत किसी भी व्यक्ति को इसका जवाब देना है तो वह दे सकता है। मुझे लगता है कि दिल्ली की जनता इन पांचों प्रश्नों का जवाब मांग रही है, दिल्ली की जनता चाहती है कि आदेश गुप्ता इन प्रश्नों का जवाब दें। मैं आशा करता हूं कि भारतीय जनता पार्टी इन पांचों प्रश्नों का जवाब देगी।

उधर, आम आदमी पार्टी के आरोप पर भारतीय जनता पार्टी ने पलटवार किया है। दिल्ली बीजेपी प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि रानी झांसी रोड फ्लाईओवर प्रोजेक्ट पर सवाल उठाने से पहले आम आदमी पार्टी नेता दुर्गेश पाठक दिल्ली की जनता को ये बताएं कि उनकी सरकार के अंतर्गत बना सिग्नेचर ब्रिज प्रोजेक्ट क्यों लंबे समय तक लंबित रहा?

बीजेपी प्रवक्ता ने आरोप लगाते हुए पूछा कि सिग्नेचर ब्रिज प्रोजेक्ट की कल्पना 1998 में 887 करोड़ रुपये की लागत से की गई और इसे 2013 में तैयार होना था पर यह 6 साल विलंब से नवंबर 2018 में पूरा हुआ और इसकी लागत बढ़ कर 1575 करोड़ रुपये हो गई। ऐसा क्यों हुआ?

 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »