19 Apr 2021, 06:21:46 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

सेना ने साहस और हिम्मत से किया चीन का मुकाबला : राजनाथ सिंह

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Mar 6 2021 12:46AM | Updated Date: Mar 6 2021 12:48AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कहा कि सेना ने पूर्वी लद्दाख में चीन की दुस्साहसिक कार्रवाई का करारा जवाब दिया और इसके लिए सभी जवान बधाई के पात्र हैं। सिंह ने आज गुजरात के केवड़यिा में सशस्त्र सेनाओं के कमांडरों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि जवानों ने साहस और हिम्मत का परिचय देते हुए चीन के मंसूबों को नाकाम कर दिया और इसके लिए सभी जवान बधाई के पात्र हैं। 

आज सुबह केवडिया पहुंचने के तुरंत बाद रक्षामंत्री लौहपुरुष सरदार बल्लभभाई पटेल को श्रद्धांजलि देने स्टेच्यू ऑफ यूनिटी गए। इसके बाद वह सम्मेलन के विभिन्न विवेचना सत्रों में शामिल हुए। सम्मेलन में उद्घाटन भाषण देते हुए रक्षामंत्री ने देश की रक्षा और सुरक्षा को प्रभावित करने वाले बहुत से मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने उभरते सैन्य खतरों, इन खतरों से निपटने में सशस्त्र सेनाओं की महत्वपूर्ण भूमिका और भविष्य में संघर्षों की बदलती प्रकृति पर विस्तार से चर्चा की। 

चीन के साथ- साथ पूर्वी लद्दाख में उत्पन्न गतिरोध के दौरान सैनिकों द्वारा प्रदर्शित निस्वार्थ सेवा और साहस की हृदय से प्रशंसा की और उनके प्रति सम्मान व्यक्त किया। इस अवसर पर रक्षा विभाग, रक्षा उत्पादन विभाग तथा अनुसंधान और विकास विभाग के सचिवों और रक्षा सेवाओं के वित्तीय सलाहकारों ने भी विभिन्न संबद्ध विषयों पर अपने विचार व्यक्त किए। 

रक्षामंत्री की उपस्थिति में आज दो विवेचना सत्र आयोजित किए गए, जिनमें विभिन्न विषयों पर विचार-विमर्श किया गया और उनमें से कुछ सत्र बंद कमरों में भी हुए। इन सत्रों में सशस्त्र सेनाओं के आधुनिकीकरण खासतौर से समन्वित थिएटर कमान स्थापित करने और अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी को शामिल करने के संबंध में चर्चा हुई।

सशस्त्र सेनाओं का मनोबल बढ़ाने और उन्हें प्रेरित करने तथा नवाचार को प्रोत्साहित करने जैसे विषयों पर बहुत उत्साहवर्द्धक भागीदारी देखने को मिली। तीनों सेनाओं के सैनिकों और युवा अधिकारियों की ओर से इस संबंध में बेहद उपयोगी फीडबैक और सुझाव भी सामने आए। सशस्त्र सेनाओं के कमांडो का सम्मेलन गुरुवार को शुरू हुआ था और यह शनिवार को संपन्न होगा। समापन सत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कमांडरों को संबोधित करेंगे।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »