24 Sep 2020, 20:43:25 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

‘आत्मनिर्भर भारत’ धोखा, देश को बेचने का नुस्खा : ऐक्टू

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Aug 10 2020 12:23AM | Updated Date: Aug 10 2020 12:24AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

पटना। ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियंस (ऐक्टू) समेत दस केंद्रीय ट्रेड यूनियन के प्रतिनिधियों ने ‘आत्मनिर्भर भारत’ को धोखा बताया और कहा कि यह देश को बेचने का नुस्खा है। ऐक्टू समेत देश के 10 केंद्रीय ट्रेड यूनियनों के संयुक्त आह्वन पर ‘मजदूरों का देश बचाओ देशव्यापी आह्वन’ पर रविवार को पटना जंक्शन गोलंबर से डाकबंगला चौक तक केंद्रीय ट्रेड यूनियन से जुड़े श्रमिक संघ ऐक्टू, एटक, सीटू, इंटक, एआईयूटीयूसी, यूटीयूसी, टीयूसीसी, एआईएमयू ट्रेड यूनियनों के संयुक्त बैनर तले मोदीशाही के चंगुल से देश को मुक्त करो, मजदूर बचाओ-देश बचाओ, लोकतंत्र-संविधान बचाओ, रोजगार, सरकारी क्षेत्र एवं संसाधन बचाओ, कार्पोरेट-कम्पनी राज खत्म करो के नारे के साथ जेल भरो सत्याग्रह प्रदर्शन निकाला गया।
 
इस मौके पर डाकबंगला चौक पर हुई संक्षिप्त सभा का संबोधित करते हुए मजदूर नेता आर. एन. ठाकुर, रणविजय कुमार, धीरेंद्र झा, गजनफर नवाब, अरुण मिश्र, चंद्रप्रकाश सिंह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत को धोखा बताया और कहा कि यह देश को बेचने का नुस्खा है। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार में मजदूरों के सामने आजादी की विरासत को बचाने की जिम्मेवारी है।
 
ऐक्टू के राष्ट्रीय सचिव रणविजय कुमार ने बताया कि आज पूरे राज्य में  अन्य केंद्रीय ट्रेड यूनियन खासकर ऐक्टू व इससे जुड़े श्रमिक संगठनों खेग्रामस, आशा कार्यकर्ता संघ, विद्यालय रसोइया संघ, स्थानीय निकाय कर्मचारी महासंघ, बिहार राज्य निर्माण मजदूर यूनियन एवं अन्य स्थानीय संघों ने आज पूरे राज्य भर में जेल भरो सत्याग्रह आंदोलन के तहत प्रदर्शन कर मोदिशाही के चंगुल से देश को मुक्त कराने का आह्वन किया गया।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »