21 Jan 2021, 01:30:19 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

महाराष्ट्र सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली, राजस्थान, गुजरात, गोवा के लोगों को.....

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 24 2020 12:06AM | Updated Date: Nov 24 2020 12:09AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मुंबई। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली, राजस्थान, गुजरात, गोवा के लोगों को कोरोना निगेटिव रिपोर्ट के साथ ही अब महाराष्ट्र में प्रवेश की इजाजत मिलेगी।  महाराष्ट्र में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे नीत गठबंधन सरकार ने इस संबंध में एहतियातन कदम उठाते हुए गाइडलाइन जारी कर दिया है। जिसमें दिल्ली-एनसीआर, गोवा, गुजरात और राजस्थान के यात्रियों को महाराष्ट्र में आने के लिए अपनी आरटी पीसीआर रिपोर्ट अपने साथ लानी होगी। महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई आने की इच्छा रखने वाले तमाम लोगों के लिए कुछ शर्तें रखीं हैं।
 
इनके अनुसार दिल्ली-एनसीआर गोवा गुजरात और राजस्थान से आने वाले सड़क मार्ग के यात्रियों को 96 घंटे पहले आरटी पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट लानी होगी। दूसरे राज्यों से सड़क मार्ग के जरिए आने वाले लोगों की तापमान की जांच की जाएगी। विमान में बिना परीक्षण के जाने पर पाबंदी लगाई गई है। राज्य सरकार ने विमान से आने वाले तमाम यात्रियों के लिए बेहद कड़े नियम बनाए हैं इनके अनुसार यदि आप हवाई जहाज से यात्रा कर मुंबई में उतरे हो तो आपके पास 72 घंटे पहले की आरटी पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट होना अनिवार्य है। बिना इस रिपोर्ट के आपको आने और जाने की इजाजत नहीं होगी।
 
रेल यात्रियों के पास अगर यह रिपोर्ट नहीं है तो उनकी स्क्रींिनग की जाएगी और उनके तापमान की जांच की जाएगी। सरकार के आदेश के मुताबिक अगर किसी के पास यह रिपोर्ट यात्रा के पहले मौजूद नहीं हैं तो उन्हें अपने खर्च पर इस टेस्ट को अनिवार्य रूप से करवाना होगा। परीक्षण के बाद ही उसे जाने की अनुमति होगी यदि कोई पॉजिटिव पाया गया तो उनका इलाज किया जाएगा।  राज्य सरकार आने वाले समय में कुछ और भी कड़े फैसले ले सकती है।
 
कैबिनेट मंत्री विजय वडेट्टीवार ने सोमवार को बताया कि हम अगले आठ दिनों तक दिल्ली और गुजरात से आने जाने वाली ट्रेन और हवाई सेवा पर नजर रखेंगे। और उसके बाद इन दोनों जगहों के साथ यातायात को शुरू रखना है या फिर बंद करना है इस पर फैसला लिया जाएगा। यह फैसला 30 नवंबर के पहले लिए जाने की उम्मीद जताई जा रही है।  फिलहाल राज्य में मौजूदा लॉकडाउन की नियमावली लागू है। वडेट्टीवार ने कहा कि अगर गुजरात ने लॉकडउन घोषित किया है।
 
तब वहां के नागरिक न तो राज्य के बाहर जा सकते हैं और न ही बाहर से कोई नागरिक राज्य में अंदर जा सकता है। फिलहाल बीते सप्ताह केंद्र के साथ एक उच्च स्तरीय मींिटग में गुजरात समेत तीन राज्यों ने हिस्सा लिया था। उच्चतम न्यायालय ने भी आज इस मामले की चार राज्यों की कोरोना स्थिति रिपोर्ट को जाना।
 
जिसमें दिल्ली, गुजरात और महाराष्ट्र भी शामिल है। रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र है कि दिसंबर का महीना कोरोना के लिहाज से काफी मुश्किलों भरा हो सकता है। लिहाजा राज्यों को पहले से ही तैयार रहना होगा। दिल्ली में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। रविवार को दिल्ली में 6746 मामले पाए गए हैं। महाराष्ट्र में 5753 मामले पाए गए हैं जबकि सोमवार को 4,153 नये मामले सामने आये। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »