11 Jul 2020, 03:52:23 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business » Gadgets

व्हाट्सएप की जरूरत जल्द होगी खत्म, गूगल जल्द ही लाने वाला है यह फीचर

By Dabangdunia News Service | Publish Date: May 29 2020 12:08PM | Updated Date: May 29 2020 12:18PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर व्हाट्सएप एक ऐसा टूल है, जिसे हर कोई चलाने का इच्छुक रहता है। यूजर्स को डॉक्यूमेंट्स, चैटिंग, वीडियो दोस्त को भेजनी होती है। व्हाट्सएप अच्छी भूमिका निभाता है, लेकिन हो सकता है। जल्द ही आप व्हाट्सएप और iMessage जैसे ऐप्स को छोड़कर गूगल मैसेज ऐप का इस्तेमाल करने लग जाएं। मैसेजिंग ऐप में गूगल कुछ ऐसे फीचर्स देने जा रहा है, जो व्हाट्सएप के लिए चुनौती साबित हो सकते हैं। यह ऐप कई ऐंड्रॉयड डिवाइस में पहले से इंस्टॉल दिया जा रहा है। इसका सबसे बड़ा फीचर है RCS सपॉर्ट का। 

रिच कम्यूनिकेशन सपॉर्ट के जरिए इस मैसेजिंग ऐप को मल्टीमीडिया भेजने की सुविधा मिल जाती है। यानी मैसेजिंग ऐप के जरिए ही यूजर्स हाई-रेजॉलूशन फोटोज, वीडियोज, GIFs, लंबे मेसेज और फाइल भेज सकते हैं। गूगल मैसेज में RCS सपॉर्ट फ्रांस, मैक्सिको और ब्रिटेन के अलावा भारत, इटली और सिंगापुर के यूजर्स को भी मिल रहा है।

RCS का फीचर फिलहाल लिमिलेड ऑपरेटर्स को सपॉर्ट करता है। गूगल धीरे-धीरे ऑपरेटर्स के साथ साझेदारी बढ़ाती जा रही है। इस फीचर के जरिए आप Wi-Fi या डेटा नेटवर्क के जरिए मैसेज भेज पाते हैं। साथ ही यह भी देख पाते हैं कि सामने वाला कब टाइप कर रहा है और कब आपका मैसेज देखा गया।

व्हाट्सएप की तरह एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन- रिच कम्यूनिकेशन सपॉर्ट के लिए इसमें एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन का फीचर भी मिलने जा रहा है। इस फीचर के आ जाने के बाद मेसेजेस को सेंडर और रिसीवर के अलावा कोई बाहर का व्यक्ति नहीं पढ़ जाएगा। ठीक इसी तरह का फीचर वॉट्सऐप में भी मिलता है। गूगल इस ऐप के लिए नया इमोजी रिएक्शन फीचर टेस्ट कर रहा है। इस फीचर के आ जाने के बाद आप मेसेज पर लॉन्ग प्रेस करके अपनी पसंद का रिएक्शन चुन सकते हैं। इसमें आपको थम्स अप, थम्स डाउन, ऐंगर, लाफ्टर जैसे इमोजी मिलते हैं।

1 अरब से ज्यादा बार डाउनलोड- Google Messages अब तक 1 अरब से ज्यादा बार डाउनलोड हो चुका है। इसमें आपको क्लीन और आसान इंटरफेस मिलता है। यह कंपनी के उन शुरुआती ऐप्स में से एक है जिन्हें डार्क मोड सपॉर्ट मिला था।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »