05 Dec 2021, 07:40:35 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport

भारत के युवा क्रिकेटर का दिल का दौरा पड़ने से निधन, T-20 मैच में 53 गेंदों पर ठोके थे 122 रन

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 16 2021 10:55AM | Updated Date: Oct 16 2021 11:27AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। भारत के युवा क्रिकेटर अवि बरोट का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है, वो 29 साल के थे। अवि बरोट सौराष्ट्र के लिए क्रिकेट खेलते थे। उनके निधन की जानकारी सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन ने दी। भारत के पूर्व अंडर 19 कप्तान रहे अवि बरोट 2019-20 में रणजी ट्रॉफी का खिताब जीतने वाली सौराष्ट्र की विजेता टीम का भी हिस्सा रहे थे। इसके अलावा उन्होंने इस साल जनवरी में खेले सैय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी में भी सौराष्ट्र का प्रतिनिधित्व किया था।
 
सौराष्ट्र क्रिकेट एसोशिएसन ने जानकारी दी कि हरियाणा और गुजरात के लिए भी क्रिकेट खेलने वाले अवि बरोत अब नहीं रहे। शुक्रवार को कार्डिएक अरेस्ट के चलते उनका निधन हो गया। अवि बरोट के निधन पर सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन ने गहरा शोक जताया है। एसोसिशन एक कमाल के क्रिकेटर थे और उनके जाने से सौराष्ट को बड़ी क्षति पहुंची है।
 
अवि बरोट दाएं हाथ के विकेटकीपर बल्लेबाज थे। इसके अलावा वो ऑफ ब्रेक गेंदबाज भी कर लेते थे। उन्होंने अपने करियर में 38 फर्स्ट क्लास मैच, 38 लिस्ट ए मैच और 20 घरेलू T20 मैच खेले। उन्होंने अपने फर्स्ट क्लास करियर में 1547 रन बनाए थे, जबकि लिस्ट ए मुकाबलों में 1030 रन और घरेलू T20 में 717 रन बनाए थे। सौराष्ट्र ने जब 2019-20 सीजन में बंगाल को हराकर रणजी ट्रॉफी का खिताब जीता था, तो अवि बरोट उसका हिस्सा थे। सौराष्ट्र के लिए उन्होंने 21 रणजी ट्रॉफी मुकाबले, 17 लिस्ट ए मैच और 11 घरेलू T20 मुकाबले खेले थे।
 
अवि बरोट साल 2011 में भारत की अंडर-19 टीम के कप्तान भी रह चुके हैं। घरेलू T20 में उनके बल्ले से सिर्फ एक शतक निकला था, जो कि उन्होंने इसी साल जनवरी में खेले सैय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी में जड़ा था। उन्होंने गोवा के खिलाफ खेले मुकाबले में सिर्फ 53 गेंदों पर ही 122 रन जड़ दिए थे, जिसमें 11 चौके और 7 छक्के शामिल रहे थे।
 
सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष जयदेव शाह ने अवि बरोट के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि ये काफी हैरान करने वाली और दुख भरी खबर है। बरोट एक बेहतर टीममेट था, जिसके पास कमाल की क्रिकेटिंग स्किल्स थी। हाल के जितने भी घरेलू मैच खेले गए, उन सबमें बरोट का परफॉर्मेन्स कमाल का रहा था। वो एक अच्छा इंसान और दोस्त था। उसके अचानक चले जाने से सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन से जुड़े हर व्यक्ति को बहुत दुख पहुंचा है।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »