31 Oct 2020, 03:00:22 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport » Cricket

हार के बाद धोनी की इस हरकत पर भड़के गौतम गंभीर

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 23 2020 7:30PM | Updated Date: Sep 23 2020 7:30PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए नंबर सात पर बल्लेबाजी करने उतरे चेन्नई सुपरकिंग्‍स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की आलोचना करते हुए पूर्व भारतीय बल्लेबाज गौतम गंभीर का कहना है कि माही का ऐसे अहम मौके पर निचले क्रम में उतरना समझ से परे है।
 
राजस्थान ने चेन्नई को 217 रन का मजबूत लक्ष्य दिया था और धोनी कई विकेट गिराने के बाद सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे। धोनी ने सातवें नंबर पर आने के बावजूद तेजी नहीं दिखाई जिससे 19 ओवर की समाप्ति तक मैच राजस्थान की झोली में जा चुका था। धोनी ने हालांकि आखिरी ओवर में तीन छक्के मारे लेकिन तब तक बाजी हाथ से निकल चुकी थी। 
 
राजस्थान ने यह मैच 16 रन से जीता। गंभीर ने धोनी की आलोचना करते हुए कहा कि उन्हें आगे बढ़कर और जिम्मेदारी लेते हुए टीम का नेतृत्व करना चाहिए था और कोई कप्तान जिसमें बड़े लक्ष्य का पीछा करने की क्षमता है वो निचले क्रम पर बल्लेबाजी नहीं करता।
 
गंभीर ने कहा - ईमानदारी से कहूं तो मैं थोड़ा आश्चर्य चकित था। धोनी का अपनी जगह रुतुराज गायकवाड़ और सैम करेन को भेजना और खुद सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करना मेरी समझ से परे है। उन्हें सामने से टीम का नेतृत्व करना चाहिए था और यह ऐसा नहीं था। 217 रन जैसे बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करना सही नहीं था। फाफ डू प्लेसिस अकेले लड़ रहे थे। उन्होंने कहा - आप धोनी को अंतिम ओवर की बात कर सकते हैं जिसमें उन्होंने तीन छक्के लगाए। लेकिन ईमानदारी से कहूं तो इसका कोई मतलब नहीं बनता। यह सिर्फ उनके निजी रन थे। 
 
धोनी की जगह अगर कोई अन्य बल्लेबाज ऐसा कर सकता था। धोनी में क्षमता है तो लोग क्यों इस बारे में बात नहीं करें। गंभीर ने धोनी पर कड़े प्रहार करते हुए कहा - जब आपके पास सुरेश रैना टीम में नहीं हैं तो आप (धोनी) लोगों को यह विश्वास दिला रहे हैं कि सैम करेन धोनी से बेहतर हैं। आप लोगों को यह विश्वास दिला रहे हैं कि गायकवाड, करेन, केदार जाधव, डू प्लेसिस और मुरली विजय आपसे बेहतर हैं। यह वाकई हैरानी की बात है।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »