04 Jun 2020, 04:24:02 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business

ग्रेडअप ने 8वीं से 12वीं तक के लिए लाइव ऑनलाइन कोचिंग ऐप गोप्रेप किया लॉन्च

By Dabangdunia News Service | Publish Date: May 17 2020 3:56PM | Updated Date: May 17 2020 3:57PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन में ऑनलाइन लर्निंग की बढ़ती मांग के मद्देनजर शिक्षा प्रौद्योगिकी कंपनी ग्रेडअप ने गोप्रेप ऐप लॉन्च करने की घोषणा की है। कंपनी ने आज यहां जारी बयान में कहा कि कक्षा 8वीं से 12वीं तक के लिए स्कूल की तैयारी कराने वाला यह ऐप छात्रों की शैक्षणिक आवश्यकताओं को पूरा करेगा, जिसमें जेईई और एनईईटी की तैयारी भी शामिल है। इस घोषणा को हाल ही में शुरू किए गए अभियान ‘पढ़ाई नहीं रुकेगी’ के साथ जोड़ा गया है।
 
चूंकि, स्कूलों ने लॉकडाउन के कारण अपना नया सत्र शुरू नहीं किया है, इसलिए ब्रांड का ध्यान स्कूलों में पहले दो महीनों में शामिल विषयों पर मुफ्त लाइव क्लासेस प्रदान करना है। कंपनी ने कहा कि इनोवेटिव लर्निंग पहल के साथ गोप्रेप ऐप छात्रों को एंड-टू-एंड तैयारी में सहायता करेगा। इसकी मुख्य विशेषताओं में फ्री लाइव ऑनलाइन क्लासेस और दिन-वार स्टडी प्लान वाले एक स्ट्रक्चर्ड कार्यप्रणाली के साथ कोर्सेस के लिए नामांकन का विकल्प शामिल है।
 
यह छात्रों को अपना घर छोड़े बिना इंडस्ट्री के बेस्ट-इन-क्लास शिक्षकों से सीखने की अनुमति देगा। इस ऐप की एक और दिलचस्प बात यह है कि छात्र किसी विषय पर स्पष्टता और जवाब पाने के लिए सुविधाजनक और सहज प्रक्रिया के तौर पर तत्काल संदेह-समाधान के लिए फोटो अपलोड कर सकते हैं। के12 सेग्मेंट के छात्रों को जेईई और एनईईटी जैसी बोर्ड या प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए गोप्रेप की प्रभावी परीक्षा तैयारी और लर्निंग के बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे।
 
गोप्रेप के संस्थापक विभू भूषण ने कहा कि उनकी कंपनी उद्देश्य हर स्कूल जाने वाले छात्र के लिए लर्निंग और परीक्षा की तैयारी यात्रा में मदद करना है, खासकर मौजूदा चुनौतीपूर्ण समय में। स्कूलों में छात्रों की व्यक्तिगत जÞरूरतें और मनोवैज्ञानिक मेकअप उनकी शैक्षणिक यात्राओं में अंतर होने की वजह से कॉलेज के मुकाबले बहुत अलग होती है। कॉलेज की प्रतियोगी परीक्षाओं के मुकाबले स्कूल में परीक्षा की तैयारी की यात्रा का तरीका बेहद अलग होता है। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »