04 Aug 2020, 01:50:13 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android

मुंबई। कोविड-19 की चिंता में विदेशों में रही गिरावट से घरेलू शेयर बाजारों में भी आज निवेश धारणा कमजोर रही और बीएसई का सेंसेक्स तथा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी करीब एक फीसदी लुढ़क गया। सेंसेक्स 345.51 अंक यानी 0.94 प्रतिशत टूटकर 36,329.01 अंक पर तथा निफ्टी 93.90 अंक अर्थात् 0.87 फीसदी की गिरावट के साथ 10,705.75 अंक पर बंद हुआ। पाँच दिन की लगातार तेजी के बाद शेयर बाजार में गिराट आई है।  
 
शेयर बाजार की शुरुआत तेजी में हुई लेकिन चौतरफा बिकवाली के दबाव में कुछ ही देर में यह लाल निशान में चला गया। रियलिटी, आईटी, टेक और ऑटो समूहों का सूचकांक करीब दो प्रतिशत लुढ़क गया। विदेशों में अधिकतर प्रमुख शेयर बाजार लाल निशान में रहे। एशियाई शेयर बाजारों में जहाँ मिश्रित रुख देखा गया, वहीं यूरोपीय शेयर बाजार पूरी तरह गिरावट में रहे। बाजार विश्लेषकों का कहना है कि कोविड-19 महामारी के मामले बढ़ने की चिंता में यूरोप में शेयर बाजार लुढ़क गये।
 
एशिया में जापान का निक्की 0.78 प्रतिशत और दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.24 प्रतिशत लुढ़क गया जबकि चीन का  शंघाई कंपोजिट 1.74 फीसदी और हांगकांग का हैंगसेंग 0.59 प्रतिशत की बढ़त में बंद हुआ। यूरोप में शुरुआती  कारोबार में जर्मनी का डैक्स 0.62 प्रतिशत और ब्रिटेन  का एफटीएसई 0.35 फीसदी कमजोर हुआ।
 
सेंसेक्स की कंपनियों में बजाज फाइनेंस के शेयर साढ़े चार प्रतिशत, एशियन पेंट्स के साढ़े तीन प्रतिशत और बजाज फिनसर्व, मारुति सुजुकी तथा एचसीएल टेक्नोलॉजजी के शेयर लगभग तीन प्रतिशत टूट गये। इंडसइंड बैंक में पाँच प्रतिशत से अधिक की तेजी रही। मझौली और छोटी कंपनियों में भी निवेशकों ने बिकवाली की। बीएसई का मिडकैप 0.39 प्रतिशत की गिरावट के साथ 13,483.41 अंक पर स्मॉलकैप 0.43 प्रतिशत लुढ़ककर 12,785.13 अंक पर बंद हुआ। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »