12 Jul 2020, 08:03:25 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business » Other Business

चीन व अन्य देशों को इस्पात निर्यात की सँभावनायें बढ़ीं : चौधरी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jun 2 2020 6:03PM | Updated Date: Jun 2 2020 6:03PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। सरकारी क्षेत्र की कंपनी स्टील अथॉरिटी आफ इंडिया (सेल) के अध्यक्ष अनिल कुमार चौधरी ने कहा है कि कोरोना महामारी से उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर चीन और कई अन्य देशों को इस्पात निर्यात की न केवल संभावनायें बढ़ी हैं बल्कि आर्डर मिलने भी शुरु हो गये हैं। चौधरी ने कोरोना महामारी की चुनौती और अवसर के बारे में यूनीवार्ता से बातचीत में कहा कि इस संक्रमण ने चीन, दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों तथा अफ्रीकी देशों को  इस्पात निर्यात की संभावनायें बढ़ायी हैं तथा आर्डर आने भी शुरु हो गये हैं। उन्होंने कहा ‘‘ किसे पता था कि कोविड-19 महामारी से जूझ रहे चीन में अचानक  स्टील की मांग में इतनी तेजी आ जाएगी कि हम उसे इस्पात निर्यात करेंगे।  दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों और अफ्रीका से भी काफी मांग आ रही है।
 
’’ उन्होंने कहा कि ऐसे  समय में जब दुनिया के प्रमुख स्टील उत्पादक देशों में उत्पादन बंद हैं या  फिर वे अपनी क्षमता से बहुत कम उत्पादन कर रहे हैं तो निश्चित ही यह हमारे  लिए अवसर है क्योंकि हमने पूरी योजना और सुरक्षा इंतज़ामों के साथ इस्पात  उत्पादन को जारी रखा। इन देशों से हमने मई महीने तक पांच लाख टन से अधिक के  निर्यात का आर्डर बुक किया है और मई के अंत तक करीब दो लाख टन आर्डर की सप्लाई भी पूरी की जा चुकी है। नेपाल हमारा व्यापार साझीदार  है, वहां से भी आर्डर आने शुरु हो गये हैं। कोरोना से उत्पन्न अवसरों का लाभ उठाने के लिए हम पूरी तैयार है। उन्होंने कहा कि हमने लॉकडाउन की घोषणा से पहले ही स्थिति को भांप लिया था और इससे निपटने की एक व्यापक रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया था।
 
यही कारण है कि लॉकडाउन के बावजूद गत अप्रैल में हमारा उत्पादन 50 फीसदी से नीचे नहीं गिरा तथा मई महीने में हम इसे 45 फीसदी से अधिक बनाए रखने में सफल रहे।  चौधरी ने कहा कि लॉकडाउन के शुरुआती दिनों में मांग में आई गिरावट के बाद, अब उसमें बढ़ोत्तरी के संकेत मिलने लगे हैं। दूसरे देशों से भी इस्पात की मांग आ रही है और घरेलू बाजार  भी खुलना शुरू हो चुका है। इससे तैयार इस्पात की मांग में बढ़ोत्तरी होने लगी है। हमें पूरा विश्वास है कि इस माह में पिछले वर्ष की इसी अवधि के मुŸकाबले 80 फीसदी विक्रय करने लगेंगे। सरकार की तरफ से घोषित आर्थिक पैकेज का भी व्यापक असर दिखाई पड़ने लगा है और देश में जल्द ही स्टील की मांग बढ़ेगी। चौधरी ने कोरोना के प्रभाव के संबंध में कहा कि अभी कुछ महीनों तक  हमें कोविड-19 के साथ ही चलना होगा। हम अपने ग्राहकों के साथ  लगातार संपर्क बनाकर रखे हुए हैं, जो इस समय सबसे महत्वपूर्ण है।
 
कोविड-19  की शुरुआत में ही हमने देश के अपने 50 सबसे बड़े ग्राहकों के साथ संपर्क  बनाया, उनकी जरुरतों के बारे में चर्चा की और उन्हें सेल के उत्पादन की  जानकारी दी। इसका विस्तार करते हुए अब हमने देश के चारों क्षेत्रों के  बड़े-बड़े ग्राहकों के साथ अलग से संवाद स्थापित किया है ताकि उनकी जरुरतों  को जाना जा सके और  आपूर्ति के बारे में विस्तार से बताया जा सके। हमारी कोशिश  है कि सरकारी क्षेत्र की एक बड़ी कंपनी होने के नाते हम सकारात्मक सोच बनाये रखें और नए माहौल में स्टील की बड़ी मांग आने पर उसे पूरा करने के लिए एकदम तैयार रहें।
 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »