06 Mar 2021, 03:46:35 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Madhya Pradesh

शिक्षार्थ आइये-सेवार्थ जाइये, हमेशा विद्यार्थी रहिये और बेहतर कार्य करिये : मिश्रा

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Dec 8 2020 12:01AM | Updated Date: Dec 8 2020 12:01AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

भोपाल। मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने आज कहा कि जीवन में सफलता के लिये सदैव विद्यार्थी बने रहना आवश्यक है। सेवा में सदैव वाणी पर संयम रखें। दृढ़ इच्छाशक्ति रखें। अनुभव का कोई सानी नहीं। स्वयं का सदैव आंकलन करते रहें। 

मिश्रा ने उप पुलिस अधीक्षकों के संयुक्त दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए यह बात कही। भौरी पुलिस अकादमी में आयोजित 39वीं, 40वीं और 41वीं बैच के संयुक्त दीक्षांत समारोह से प्रदेश को 128 नये पुलिस अधिकारी मिले। समारोह में प्रशिक्षण के दौरान उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले 36 अधिकारियों को पुरस्कृत किया गया, इनमें 19 महिला अधिकारी हैं। 

महिला अधिकारियों ने 39वीं एवं 40वीं बैच में ओवरऑल परफॉरमेंस में प्रथम स्थान प्राप्त किया। पुरस्कृत अधिकारियों के अतिरिक्त शेष अधिकारी अपने-अपने जिलों से यू-ट्यूब लाइव के माध्यम से समारोह में वर्चुअली सम्मिलित हुए। 

गृह मंत्री ने कहा कि सेवा के दौरान अपने मन को सदैव मजबूत रखें। उन्होंने कहा कि जब मन कमजोर होता है तो समस्याएँ आती हैं, जब मन स्थिर होता है तो चुनौती होती है, लेकिन जब मन मजबूत होता है तो मुसीबतों में से अवसर निकलकर आते हैं। आप सभी अकादमी में शिक्षित भी हुए और प्रशिक्षित भी बावजूद इसके अनुभव से बड़ा गुरू कोई नहीं है।

उन्होंने कहा कि आप एक महत्वपूर्ण पद पर अपनी सेवाएँ देने जा रहे हैं, सदैव स्मरण रहे विश्व में क्रांति, भ्रांति और शांति वाणी से ही हुई है। कार्यक्षेत्र में आपकी वाणी आपकी सफलता का निर्धारण करेगी। उन्होंने कहा कि आपकी दृष्टि अच्छी होती है तो आपको दुनिया अच्छी लगती है, लेकिन जब आपकी वाणी अच्छी होगी, आपके शब्द बेहतर होंगे तो दुनिया को आप अच्छे लगेंगे। स्वयं का बेहतर आंकलन करें। समाज से सीखकर अनुभवी बनें और विभाग को बेहतर कार्य संपादित कर गौरवान्वित करें।

संयुक्त दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी ने कहा कि प्रशिक्षण आपको चुनौतियों से मुकाबले के लिए तैयार कर चुका है। बदला हुआ समय चुनौतीपूर्ण है। अपराध के तरीके बदल गए हैं, इसलिए स्वयं को सजग, अपडेट रखते हुए देशभक्ति-जनसेवा के नवीन प्रतिमान स्थापित करें। उन्होंने कहा कि नव प्रशिक्षित उप पुलिस अधीक्षक चुनौतियों का सामना कर सफल होंगे।

विशेष पुलिस महानिदेशक अरूणा मोहन राव ने बधाई तथा शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि सभी ने प्रशिक्षण में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। यह सेवा के दौरान आगे बढ़ने में सहायक होगा। उप निदेशक अकादमी विनीत कपूर ने स्वागत उद्बोधन में प्रशिक्षुओं तथा प्रशिक्षण की जानकारी प्रदान की। अतिथियों का स्वागत तुलसी का पौधा भेंट कर किया गया। कार्यक्रम का संचालन एएसपी नीरज पाण्डे ने किया।

समारोह में बताया गया कि तीनों बैच के 128  उप पुलिस अधीक्षक में 56 महिला  पुलिस अधिकारी है। पुरस्कृत अधिकारियों में 36 में से 19 महिला पुलिस अधिकारी हैं। तीनों बीच में  ओवरऑल परफारमेंस के आधार पर 2 बैच में महिला अधिकारियों ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। 39 वीं बैच में ऋचा जैन, 40 वीं बैच में यशस्वी शिंदे और 41वीं बैच में पराग सैनी ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। आन्तरिक परीक्षाओं के मूल्यांकन में 39वीं बैच में प्रिया सिंह और 40वीं बैच में यशस्वी शिंदे ने प्रथम स्थान प्राप्त किया जबकि 41वीं बैच में प्रथम स्थान पराग सैनी ने प्राप्त किया। प्रशिक्षक के रूप में एडिशनल एसपी रश्मि पाण्डे, संदीप भूरिया, सेवानिवृत्त अधिकारी वीरेंद्र सिंह गुर्जर और निरीक्षक चौधरी मदनमोहन समर को भी विशिष्ट सम्मान से सम्मानित किया गया। समारोह में पुलिस अकादमी निदेशक एवं एडीजी अनुराधा शंकर सिंह, लोकायुक्त एडीजी टी.के. वाइफे, एडीजी अशोक अवस्थी भी मौजूद रहे।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »