24 Nov 2020, 23:13:21 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

होम्योपैथी और यूनानी पद्धति को बढावा देने होंगे प्रयास: कावरे

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 8 2020 12:15AM | Updated Date: Sep 8 2020 12:16AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

भोपाल। मध्यप्रदेश के आयुष राज्य मंत्री राम किशोर कावरे ने कहा है कि 'होम्योपैथी और यूनानी विधाओं के जरिये रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने विषय पर जल्द ही वेबिनार आयोजित किया जाये, जिसमें आयुर्वेद की तरह होम्योपैथी और यूनानी पद्धति को अपनाने एवं उसे बढ़ावा देने की दिशा में प्रयास किये जायेंगे। आधिकारिक जानकारी के अनुसार कावरे आज यहां मंत्रालय से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये सभी आयुष अधिकारियों के साथ चर्चा कर रहे थे।
 
उन्होंने कहा कि आयुष स्वास्थ्य एवं कल्याण केन्द्र (हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर एचडब्ल्यूसी) विकसित करने के लिये गाइड-लाइन तैयार की गई है। गाइड-लाइन में दिये दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए सुव्यवस्थित एवं सुसज्जित केन्द्र विकसित किया जाये। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत के लोगों को औषधालय के विकास के लिये प्रेरित किया जाये, स्थानीय लोग स्वेच्छा से अपने या अपने परिवार के सदस्य या उनके पूर्वजों के नाम पर बाउण्ड्री-वॉल आदि के निर्माण करा सकते हैं।
 
उन्होंने उपयुक्त स्थान चुनकर योग के लिये व्यवस्था करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि औषधालय क्षेत्र के लिये स्थानीय योग प्रशिक्षक की जानकारी सभी जिला अधिकारी संचालनालय को भेजें। हर्बल गार्डन की स्थापना के लिये पौधे की नाम-पट्टिका सहित स्थानीय भाषा में प्रदर्शन किया जाये। उन्होंने कहा कि औषधीय पौधे घर पर भी लगाकर लोगों और मेहमानों को उसकी विशेषताओं से अवगत करवायें। उन्होंने कहा कि प्रतीक्षा-कक्ष में भी इन औषधीय पौधों की जानकारी दीवार-पेंटिंग आदि से दी जाये, जिससे ग्रामीण औषधीय पौधों की जानकारी के साथ उसकी उपयोगिता भी जान सकें।
 
राज्य मंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी में आयुष विभाग ने ईमानदारी से काम कर अपनी एक अलग पहचान बनाई है। लोग आयुर्वेद के लाभ से परिचित होकर उसे अपनाने लगे हैं। कावरे ने आयुष चिकित्सकों को पंचकर्म करने के लिये प्रेरित किया। कावरे ने शुरूआत में आयुष विभाग द्वारा बनाई गई स्वास्थ्य संवर्धन हेतु आयुष निर्देश की मार्गदर्शी पुस्तिका का विमोचन किया। राज्य मंत्री कावरे मंत्रालय में अपने कक्ष से बुरहानपुर आयुर्वेद कॉलेज द्वारा आयोजित वेबिनार में शामिल हुए। 'कोविड-19 का मानसिक स्वास्थ्य पर प्रभाव' विषयक वेबिनार में कावरे ने कहा कि कोरोना के कारण व्यक्ति की दिनचर्या तनावपूर्ण रही है।
 
वेबिनार में तनावमुक्त होने के संबंध में उपायों पर चर्चा की गई। चर्चा के निष्कर्षों का बारीकी से अध्ययन किया जायेगा और उपायों को आत्मसात किया जायेगा। राज्य मंत्री ने मंत्रालय में संभागीय आयुष अधिकारियों के साथ बैठक कर विभाग की गतिविधियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि परिवार भाव से काम करें।
 
अधिकारी अपने अधीनस्थ अधिकारी-कर्मचारी को अच्छे काम के लिये सम्मानित करें, उनका मनोबल बढ़ायें। लोगों में काम के प्रति प्रतिस्पर्धा हो। परेशानी या समस्या होने पर उसका समाधान करें। कावरे ने कहा कि अपने अधीनस्थ जिलों का दौरा करें। जहाँ आवश्यक सुधार की गुंजाइश हो, वहाँ अपेक्षित सुधार किया जाये। आयुष के क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को श्रेणीवार सूचीबद्ध किया जाये। किसी विशेष बीमारी के लिये विशेषज्ञता हासिल व्यक्तियों की भी सूची तैयार की जाये। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »