24 Nov 2020, 23:51:25 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

हर जिले में कोरोना इलाज के लिए अस्पतालों में बेहतर व्यवस्था-शिवराज

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Aug 28 2020 12:28AM | Updated Date: Aug 28 2020 12:28AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के हर जिले में कोरोना के इलाज की चिन्हित शासकीय अस्पतालों में अच्छी व्यवस्था की गई है। चौहान मंत्रालय में वी.सी. के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कुछ निजी चिकित्सालयों को भी अनुबंधित किया गया है, जहां कोरोना के इलाज की नि:शुल्क व्यवस्था है। बिना लक्षण वाले ऐसे मरीज, जिनके घर में व्यवस्था है, उन्हें 'होम आइसोलेशन' में भी रखा जा रहा है।
 
उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए कि 'होम आइसोलेशन' के लिए गाइडलाइन जारी की जाएं, जिससे घर पर भी मरीज का अच्छा इलाज एवं पूरी देखभाल हो सके। उन्होंने कहा है कि कोरोना संक्रमण रोकने के लिए प्रत्येक जिले में मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसिंग और बचाव के लिये आवश्यक सावधानियों का अनिवार्य रूप से पालन कराया जाए। बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान आदि उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की कोरोना रिकवरी रेट 76.4 प्रतिशत हो गई है। प्रदेश की पॉजिटिविटी रेट 4.57 प्रतिशत तथा मृत्यु दर 2.24 प्रतिशत है। प्रदेश की प्रति 10 लाख टेसिं्टग 15,467 हो गई है।
 
एक्टिव प्रकरणों के मान से प्रदेश का देश में 16वां स्थान है, यहां एक्टिव प्रकरणों की संख्या 12 हजार 422 है। प्रदेश में अब प्रतिदिन 23 हजार से अधिक टेस्ट हो रहे हैं। जिलेवार समीक्षा में पाया गया कि कोरोना के इंदौर में सर्वाधिक 171 नए प्रकरण आए हैं, वहीं ग्वालियर में 156, भोपाल में 155, जबलपुर में 126, झाबुआ में 49, शिवपुरी में 43, धार में 36, खरगौन में 36, उज्जैन में 34 तथा सागर में 31 नए प्रकरण आए हैं।
 
मुख्यमंत्री चौहान ने इन सभी जिलों पर विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश दिए। वर्तमान में 2109 मरीज 'होम आइसोलेशन' में अपर मुख्य सचिव सुलेमान ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में वर्तमान में कुल 2109 मरीज होम आइसोलेशन में है। उन्होंने बताया­ कि प्रत्येक जिले को निर्देश जारी कर दिए गए हैं कि फीवर क्लीनिक्स पर कोरोना टेस्ट के लिए सैम्पल लिए जाने की व्यवस्था हो, जिससे कोई भी व्यक्ति वहां जाकर आसानी से अपना कोरोना टेस्ट करा सके। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »