21 Jul 2024, 06:33:06 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

मेक्सिको की पहली महिला राष्ट्रपति बनीं क्लाउडिया शीनबाम, 60 प्रतिशत वोट हासिल किए

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jun 3 2024 4:33PM | Updated Date: Jun 3 2024 4:33PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मेक्सिको में पहली बार कोई महिला राष्ट्रपति की कुर्सी संभालेगी। क्लाउडिया शिनबाम वो नाम है जो आज कल काफी चर्चा में है। क्योंकि वह पहली महिला है जो मेक्सिको के राष्ट्रपति की कुर्सी तक पहुंची हैं। मेक्सिको में राष्ट्रपति चुनाव के लिए कल यानी रविवार को मतदान हुआ था। ये पहली बार था जब देश में राष्ट्रपति पद के लिए दो महिलाएं आमने सामने थीं। दरअसल, मेक्सिको का इतिहास लिंग भेद और महिला भेदभाव वाला रहा है। ऐसे में मेक्सिको के सर्वोच्च राष्ट्रपति पद पर किसी महिला का चुना जाना यकीनन ऐतिहासिक क्षण है।

ये पहला मौका था जब मेक्सिको में राष्ट्पति पद के लिए दो महिलाएं आमने सामने थीं। जिमसें क्लाउडिया शिनबाम ने बाजी मार ली। क्लाउडिया शिनबाम वामपंथी मोरेना पार्टी की उम्मीदवार थीं, जबकि उनसे सामने रूढ़िवादी पीएएन पार्टी से ज़ोचिटल गाल्वेज़ थे। जो विपक्षी दलों के गठबंधन का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। जबकि तीसरा उम्मीदवार जॉर्ज अल्वारेज़ मायनेज़ हैं, जो इस दौड़ में सबसे युवा थीं। वह केंद्र-वाम नागरिक आंदोलन का प्रतिनिधित्व करती हैं।

रविवार को हुए मतदान देश के इतिहास का सबसे बड़ा चुनाव था, क्योंकि मेक्सिको में पहली बार नौ करोड़ 80 लाख से  ज्यादा मतदाताओं ने अपने वोट का प्रयोग किया। उनमें से एक करोड़ 40 लाख ऐसे मतदाता भी थे जिन्होंने मेक्सिको के बाहर से भी अपने मत का प्रयोग किया। देश में हुए चुनाव से 20,000 से ज्यादा पदों पर नियुक्ति की जाएगी। एक अनुमान के मुताबिक, 70,000 उम्मीदवार सीनेटर, मेयर और गवर्नर बनने की होड़ में हैं।

बता दें कि मेक्सिको के चुनाव में भी हिंसा का बोलबाला रहता है। इस बार भी यहां जमकर खून-खराबा हुआ जो देश के इतिहास का सबसे खूनी चुनाव रहा है। सत्ता में आने वालों को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे आपराधिक संगठनों ने दर्जनों राजनीतिक उम्मीदवारों और आवेदकों की हत्या कर दी।

मेक्सिको की राजनीति में 2024 का ये चुनाव ऐतिहासिक भूमिका निभा रहा है। क्योंकि इस चुनाव में दो महिलाओं का राष्ट्रपति पद के लिए आवेदन करना 1988 से देश में हुए विकास को दिखाता है। बता दें कि मेक्सिको में पहली बार साल 1988 में चुनाव हुए थे। रविवार को हुए चुनाव मेक्सिको के लोकतंत्र को अधिक मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभाएगा।

61 साल की क्लाउडिया शीनबाम के पास राजनीति का अच्छा अनुभव है। इससे पहले वह मेक्सिको सिटी की मेयर रह चुकी हैं। क्लाउडिया शीनबाम पेशे से जलवायु वैज्ञानिक हैं। वह वर्तमान राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुअल लोपेज़ ओब्रेडोर की एक कट्टर सहयोगी हैं। शीनबाम की सामाजिक कल्याण, शिक्षा और पर्यावरणीय स्थिरता पर ध्यान केंद्रित करने वाली नीतियों का प्रतिनिधित्व करती है। वह न केवल मेक्सिको की पहली महिला राष्ट्रपति बन रही हैं बल्कि वह देश में यहूदी विरासत की पहली नेता भी बन गई हैं।

क्लाउडिया शिनबाम ने चुनाव में जिन मुद्दों पर लोगों का ध्यान खींचा उनमें वरिष्ठ नागरिकों के लिए लोपेज़ ओब्रेडोर के पेंशन कार्यक्रम को जारी रखना, छात्रों के लिए छात्रवृत्ति का विस्तार करना, छोटे पैमाने के किसानों के लिए मुफ्त उर्वरक प्रदान करना, राष्ट्रीय रक्षक और न्यायिक सुधारों के एकीकरण के अलावा व्यापक सुरक्षा सुधारों को लागू करना शामिल है

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »