16 Dec 2019, 12:44:16 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

सुरक्षा इंतजामो से अयोध्या में घटी स्रानार्थियों की तादाद

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 12 2019 4:16PM | Updated Date: Nov 12 2019 4:16PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

अयोध्या। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या में कड़े सुरक्षा बंदोबस्त के बीच लाखों श्रद्धालुओं ने कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर सरयू नदी मे आस्था की डुबकी लगायी। रामजन्मभूमि विवाद पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद कार्तिक पूर्णिमा मेले में दूरदराज के क्षेत्रों से श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला जारी रहा।
 
स्रानार्थियों ने सरयू नदी में डुबकी लगाने के बाद प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर, कनक भवन मंदिर, प्रसिद्ध नागेश्वरनाथ मंदिर तथा श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला का दर्शन किया। सुरक्षा के कड़े प्रबंध होने के नाते हालांकि इस बार अपेक्षाकृत कम श्रद्धालुओं ने सरयू में स्रान किया। प्रशासन सुरक्षा में कोई कोताही नहीं बरतना चाहता है जिसका सीधा असर कार्तिक पूर्णिमा स्रान में देखने को मिला। कार्तिक पूर्णिमा में आम तौर पर स्रानार्थियों की संख्या 20 से 25 लाख के बीच रहा करती थी जो इस बार घट कर पांच लाख के इर्द गिर्द रह गयी। सोमवार को सायं पांच बजकर चौतीस मिनट पर पूर्णिमा तिथि के साथ ही स्रान प्रारम्भ हो गया था। इस दिन इक्का-दुक्का श्रद्धालु ही स्रान कर रहे थे लेकिन आज श्रद्धालुओं की अच्छी खासी भीड़ सरयू स्रान घाटों पर उमड़ पड़ी। जैसे-जैसे भोर का अंधेरा छंट रहा था वैसे-वैसे श्रद्धालुओं की भीड़ भी बढ़ रही थी।
 
बाईपास साकेत पेट्रोल पम्प, फोर लेन सरयू पुल आदि जगहों पर मेलार्थियों की अच्छी खासी भीड़ दिखायी पड़ रही थी जो सरयू स्रान घाटों की ओर बढ़ते चले आ रहे थे। स्थानीय लोगों ने बताया कि इस बार सुप्रीम कोर्ट के राम मंदिर फैसले के बाद प्रशासनिक बंदिशों के कारण श्रद्धालु अयोध्या में स्रान करने नहीं आये जिससे इसकी संख्या बहुत कम हो गयी। कार्तिक पूर्णिमा मेले में दुकानें तो ज्यादा नहीं खुली थीं लेकिन जो ज्यादा नहीं खुली थीं उन पर भी भीड़ ज्यादा नहीं थी। मेले का स्रान का सिलसिला आज शाम छह बजकर पैंतालिस मिनट तक चलता रहेगा।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »