20 Nov 2019, 07:40:17 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

प्रबंधक समिति ने याचिकाकर्ता को ‘तू कौन मैं खामख्वाह‘ करार दिया

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 23 2019 3:01AM | Updated Date: Oct 23 2019 3:01AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

सिरसा। हरियाणा के सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम  सिंह इंसा पर हमले की आशंका और उसे मानसिक व शारीरिक तौर पर प्रताड़ित  किये जाने से संबंधित अदालत एक याचिका को आज डेरे की प्रबंध समिति ने ही न्यायालय के समक्ष ‘छल और मजाक‘ करार दिया है। साध्वी यौन प्रकरण और पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्या प्रकरण में दोषी पाये गये डेरा प्रमुख बीस-बीस साल की सजा सुनाई गई है तथा वह रोहतक की सुनारिया जेल में है। डेरा सच्चा सौदा प्रबंध समिति के आज यहां जारी बयान के अनुसार मोहित गर्ग नामक व्यक्ति की ओर से वकील एपी सिंह के जरिये इस आश की एक याचिका पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय में दाखिल की गई है।
 
प्रबंध समिति ने आरोप लगाया है कि डॉ मोहित गर्ग मीडिया व सोशल मीडिया में प्रसिद्धि का भूखा व्यक्ति है, जिसका डेरा प्रमुख  से संबंधित मामलों से कोई भी संबंध नहीं है। ऐसे लोगों की तरफ से आये दिन डेरे, डेरा प्रबन्ध समति के बारे में ‘समाज को गुमराह करने वाली‘ बातें कही व  लिखी जा रही हैं और इनमें हाल ही में दाखिल याचिका भी शामिल है। डेरा सच्चा  सौदा प्रबंध समिति ने स्पष्ट किया है कि डेरा प्रमुख को जेल प्रशासन की और  से नियमानुसार पृरी सुरक्षा उपलब्ध करवाई हुई है एवं मानसिक व शारिरिक  तौर पर वह पूर्ण स्वस्थ है।
 
प्रबंध समीति ने यह भी  स्पष्ट किया कि परिवार एंव वकील अक्सर उससे मिलते हैं। प्रबन्ध समिति ने डेरे के अनुयाइयों से अपील की है कि वह स्वार्थी लोगों के झांसे में न आएं,  साथ ही प्रबन्ध समिति ने सपष्ट किया है कि वह इस मामले में कानूनी राय ले  रहे हैं कि जो लोग डेरा सच्चा सौदा से संबंधित मामलों में स्वार्थपूर्ण  अनावश्यक वाद-विवाद खड़ा कर रहे है उनके विरुद्ध क्या कानूनी कार्रवाई की जाए।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »