18 Jun 2024, 07:48:25 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » World

पाकिस्तान में गहराता जल संकट, 30 मिलियन पाकिस्तानियों के पास नहीं है पीने का साफ पानी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Mar 23 2023 4:31PM | Updated Date: Mar 23 2023 4:31PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

कराची। आर्थिक तंगी झेल रहा पाकिस्तान अब पानी की कमी से भी जूझ रहा है। पाकिस्तान में दिनों-दिन हालात बिगड़ते ही जा रहे हैं। एशियन लाइट द्वारा जारी की गई रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के 24 प्रमुख शहरों में साफ पानी की सुविधा नहीं है। रिपोर्ट के मुताबिक लगभग 30 मिलियन पाकिस्तानियों के पास साफ पानी की सुविधा नहीं है। देश के 24 प्रमुख शहरों में रहने वाले 80 प्रतिशत लोग साफ पेयजल की सुविधा से वंचित हैं। वहीं कराची के 16 मिलियन झुग्गीवासियों के पास पानी की सुविधा ही नहीं है। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के एक अनुमान के अनुसार, यदि पानी को संरक्षित करने के लिए आवश्यक कदम नहीं उठाए गए तो पाकिस्तान 2025 तक पूरी तरह से सूखा और बंजर हो जाएगा।

एशियन लाइट ने बताया कि आबादी 220 मिलियन लोगों को पार करने के साथ, देश की पानी की मांग 274 मिलियन एकड़-फीट तक पहुंच सकती है, जबकि पानी की आपूर्ति 191 मिलियन एकड़-फीट पर ही रह सकती है। एशियन लाइट ने एक रिपोर्ट में कहा कि लगभग 30 मिलियन पाकिस्तानियों के पास साफ पानी तक पहुंच नहीं है, 24 प्रमुख शहरों में रहने वाले 80 प्रतिशत लोगों के पास साफ पानी नहीं है और कराची के 16 मिलियन स्लम निवासियों के पास पानी ही नहीं है। एशियन लाइट ने बताया कि सतही जल स्रोतों में हब डैम और हलेजी और कीन्झार की दो झीलें शामिल हैं, जबकि भूजल स्रोत में डुमलोटी कूप क्षेत्र शामिल हैं। हालाँकि, इन कुओं से पानी की आपूर्ति न के बराबर है। रिपोर्टों से यह भी पता चलता है कि पाकिस्तान में जो पानी की सुविधा है उसकी गुणवत्ता बेहद ही खराब है। इसमें अक्सर मल और अन्य स्वास्थ्य संबंधी खतरे होते हैं।

पाकिस्तान में, जहां 65 प्रतिशत से अधिक आबादी दूषित पानी के संपर्क में है और लाखों लोग अपने पीने के पानी में आर्सेनिक पाते हैं। कराची में पानी की कमी इतनी निराशाजनक है कि यहां तक कि पाकिस्तान के सबसे बड़े हवाईअड्डे को भी रोजाना 500,000 गैलन पानी की कमी का सामना करना पड़ रहा है। जबकि इसके संचालन के लिए रोजाना 800,000 गैलन पानी की जरूरत होती है

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »