24 Jun 2024, 06:20:44 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

कर्नाटक सेक्स टेप कांड में पूर्व सांसद प्रज्वल रेवन्ना को न्यायिक हिरासत में भेजा, 31 मई को हुई थी गिरफ्तारी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jun 10 2024 5:13PM | Updated Date: Jun 10 2024 5:13PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

कर्नाटक की एक अदालत ने जेडीएस के पूर्व सांसद प्रज्वल रेवन्ना को 24 जून तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। अश्लील वीडियो मामले में फंसे रेवन्ना को पुलिस ने 31 मई को गिरफ्तार किया था। आरोपों के बाद से विदेश में रह रहे रेवन्ना जैसे ही बेंगलुरु के केम्पेगौड़ा इंटरनेशल एयरपोर्ट पर लैंड किए,पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। मामले की जांच कर रहे विशेष जांच दल (SIT) ने सोमवार को रेवन्ना की और हिरासत की मांग नहीं की।

लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान प्रज्वल रेवन्ना आरोपों के घेरे में आए। इस दौरान ही अश्लील वीडियो वायरल हुआ। वाडियो सामने आने के बाद कर्नाटक सरकार हरकत में आ गई और जांच के लिए एसआईटी का गठन किया। एसआईटी ने उन्हें तलब किया लेकिन वो जांच में शामिल नहीं हुए। इसके बाद पता चला कि राजनयिक पासपोर्ट पर रेवन्ना जर्मनी फरार हो गए। परिवार और राजनीतिक दबाव बढ़ने के बाद रेवन्ना 31 मई को भारत लौटे जिसके बाद एसआईटी ने उन्हें तुरंत हिरासत में ले लिया।

इसके बाद एसआईटी ने रेवन्ना को कोर्ट में पेश किया। जहां, से कोर्ट ने 6 जून तक पुलिस हिरासत में भेज दिया था। इसके बाद एसआईटी ने कोर्ट में रेवन्ना की कस्टडी की अवधि को बढ़ाने की मांग की। कोर्ट ने मांग को स्वीकार करते हुए रेवन्ना को फिर से पुलिस की हिरासत में भेज दिया था। हालांकि, सोमवार को कस्टडी की अवधि समाप्त होने के बाद पुलिस ने एक बार फिर से रेवन्ना को कोर्ट में पेश किया। जहां से उन्हें 24 जून तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

रेवन्न साल 2019 में कर्नाटक की हासन लोकसभा सीट से सांसद निर्वाचित हुए थे। ये उनकी पहली जीत भी थी। तब रेवन्न ने 52.91 फीसदी वोटों के साथ 676,606 हासिल किए थे। 2024 के चुनाव में भी रेवन्ना हासन लोकसभा सीट से मैदान में थे, लेकिन इस बार उन्हें करारी हार झेलनी पड़ी है। हासन लोकसभा सीट से पूर्व प्रधानमंत्री और प्रज्वल रेवन्ना के दादा एचडी देवगौड़ा तीन बार सांसद रह चुके हैं। उन्होंने साल 2004, 2009 और 2014 में जीत हासिल की थी।

 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »