24 Jul 2024, 21:27:47 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

17वीं लोकसभा भंग-PM Modi ने सौंपा राष्ट्रपति को इस्तीफा, जानिए आगे क्या होगा

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jun 5 2024 2:52PM | Updated Date: Jun 5 2024 2:52PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद केंद्र में नई सरकार के गठन की तैयारियां शुरू हो गई हैं। ताजा खबर यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। राष्ट्रपति ने इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। इसके साथ ही 17वीं लोकसभा भंग हो गई है। राष्ट्रपति ने नई सरकार के गठन तक मोदी व कैबिनेट को पद पर बने रहने के लिए कहा है।
 
इससे पहले बुधवार को दिल्ली में मोदी कैबिनेट की आखिरी बैठक हुई। बैठक में धन्यवाद प्रस्ताव पास हुआ। सभी सदस्यों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लगातार तीसरी जीत के लिए बधाई दी। अब पीएम आवास पर NDA घटक दलों की बैठक होगी, जिसमें नई सरकार के गठन के लिए मंथन किया जाएगा।
 
जदयू से सीनियर नेता और प्रवक्ता केसी त्यागी ने साफ कर दिया है कि उनकी पार्टी बिना किसी शर्त के केंद्र में सरकार बनाने और नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनाने के लिए समर्थन की चिट्ठी देने को तैयार है। हालांकि त्यागी ने यह इच्छा जरूर जताई कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिया जाना चाहिए।समाचार एजेंसी ANI से चर्चा में केसी त्यागी ने कहा, नीतीश कुमार एनडीए की बैठक में हिस्सा लेने जा रहे हैं। हम पूरी तरह से एनडीए के साथ हैं। अब कहीं और जाने का सवाल नहीं।
 
विपक्ष और कांग्रेस की ओर से मिल रहे प्रस्तावों (डिप्टी पीएम बनाने से लेकर बिहार को विशेष राज्य का दर्ज देने तक) पर त्यागी ने कहा कि मल्लिकार्जुन खरगे ने यह बड़ा दिल पहले दिखाया होता तो आज यह नौबत नहीं आती।पटना से दिल्ली आने वाली फ्लाइट में नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव की मुलाकात हुई। नीतीश जब अपनी सीट पर पहुंचे, तो पीछे वाली सीट पर तेजस्वी पहले से बैठे हुए थे। नीतीश को देखकर तेजस्वी खड़े हुए और नमस्कार किया। नीतीश ने भी नमस्कार किया और पैर की चोट के बारे में पूछा।
 
इसके बाद नीतीश भी अपनी सीट पर बैठ गए। मीडिया ने प्रतिक्रिया चाही, तो दोनों नेताओं ने हाथ जोड़ते हुए इनकार कर दिया।भाजपा खेमे से खबर है कि नीतीश कुमार और चंद्रबाबू नायडू से समर्थन की चिट्ठी मिलने के बाद ही भाजपा सरकार बनाने का दावा पेश करेगी।
 
बता दें, लोकसभा चुनाव 2024 में किसी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। 241 सीट जीतकर भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनी है। हालांकि वह लोकसभा की कुल 543 सीटों में से बहुमत के लायक 272 सीट से पीछे है।एनडीए के घटक दलों को मिला लिया जाए तो कुल संख्या 294 हो रही है। यानी बहुमत से 22 ज्यादा। वहीं विपक्ष दलों के गठबंधन आइएनडीआइए को 232 सीटें मिली हैं। वहां भी सरकार बनाने की संभावनाएं टटौली जा रही हैं। आइएनडीआइए के नेताओं का मानना है कि यदि नीतीश कुमार और चंद्रबाबू नायडू पाला बदल लेते हैं, तो मोदी को तीसरी बार पीएम बनने से रोका जा सकता है।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »