23 Sep 2019, 05:54:28 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business

नोटबंदी के बाद से नकदी का प्रचलन 19 प्रतिशत बढ़ा

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 2 2019 12:17AM | Updated Date: Jul 2 2019 12:17AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद डिजिटलीकरण के सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद देश में प्रचलन में मौजूद नोटों का मूल्य 19 प्रतिशत बढ़कर 21,137.64 अरब रुपये पर पहुँच गया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में सोमवार को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया कि नोटबंदी से पहले 04 नवंबर 2016 को 17,741 अरब रुपये के नोट प्रचलन में थे। इस साल 29 मार्च तक यह राशि बढ़कर 21,137.64 अरब रुपये पर पहुँच गयी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 08 नवंबर 2016 को नोटबंदी की घोषणा की थी। इसके तहत 500 रुपये और एक हजार रुपये के उस समय प्रचलन में मौजूद नोटों को प्रतिबंधित कर दिया गया था। बाद में 500 रुपये के नये नोट और दो हजार रुपये के नोट जारी किये गये थे। बाद में सरकार ने कहा था कि नोटबंदी का एक उद्देश्य डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देना और अर्थव्यवस्था में नकदी के इस्तेमाल को कम करना था। सीतारमण ने आज अपने लिखित उत्तर में आर्थिक समीक्षा 2016-17 का हवाला देते हुये कहा ‘‘दुनिया भर में नकदी और गलत कार्यकलापों के बीच गहरा रिश्ता पाया जाता है। ...परिचालन में नकदी जितनी अधिक होगी, भ्रष्टाचार उतना ही अधिक होगा।’’ 

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »