30 Sep 2023, 09:24:11 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business

मोदी सरकार का किसानों को बड़ा तोहफा, धान, अरहर, मूंग, उड़द के MSP में भारी बढ़ोतरी का किया एलान

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jun 7 2023 3:23PM | Updated Date: Jun 7 2023 3:23PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

दालों की बढ़ती कीमतों के मद्देनजर देश में प्रोडक्शन बढ़ाने के मकसद से मोदी सरकार ने अरहर, मूंग और उड़द दाल की एमएसपी यानि न्यूनत्तम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में 2023-24 मार्केटिंग सीजन के लिए खरीफ फसलों के एमएसपी में बढ़ोतरी पर मुहर लगा दी गई। जिसमें अरहर दाल के एमएसपी में 400 रुपये की बढ़ोतरी कर 7000 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है। उड़द दाल की एमएसपी में भी 350 रुपये की बढ़ोतरी कर 6950 रुपये प्रति क्विंटल और मूंग के एमएसपी में 10 .4 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 7755 रुपये से बढ़ाकर 8558 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है।  

कैबिनेट ने 2023-24 मार्केटिंग सीजन के लिए सरकार के इस फैसले से बड़ा फायदा किसानों को होगा जो अरहर दाल की ज्यादा बुआई करने के लिए प्रेरित होंगे साथ ही उपज पर ज्यादा कीमत मिलेगी। ट्रेडर्स से लेकर मिलर्स ने सरकार ने अरहर दाल की एमएसपी में बढ़ोतरी किए जाने की मांग की थी जिससे देश में अरहर दाल की ज्यादा पैदावार हो सके। पिछले कुछ महीनों में अरहर दाल की कीमतों में 10 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी देखने को मिली है। अरहर दाल की एमएसपी फिलहाल मूंग दाल की एसएसपी 7755 रुपये प्रति क्विंटल से कम है। देश में अरहर दाल की खपत को पूरा करने सरकार ने 2023-24 मार्केटिंग सीजन के लिए अतिरिक्त मात्रा में अरहर दाल का आयात किया है जिससे घरेलू मार्केट में बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाई जा सके।   

दूसरे खरीफ फसलों जैसे धान(कॉमन) के एमएसपी को 2040 रुपये से बढ़ाकर 2183  प्रति क्विंटल कर दिया है। ग्रेड ए धान के एमएसपी को 2060 रुपये से बढ़ाकर 2203 प्रति क्विंटल कर दिया है। मक्के के एमएसपी को 1962 रुपये प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 2090 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है। कपास के एमएसपी में 9 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है। मूंगफली के एमएसपी में 9 फीसदी का इजाफा किया गया है। कैबिनेट बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी देते हुए केंद्रीय वाणिज्य, खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि पिछले कई वर्षों में इस वर्ष एमएसपी में सबसे बड़ी बढ़ोतरी की गई है। लागत से 50 फीसदी ज्यादा एमएसपी रखने का सरकार ने फैसला किया था। और उसी के मुताबिक एमएसपी में बढ़ोतरी की गई है। 

मंगलवार 6 जून 2023 को सरकार ने देश में दालों के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए बड़ा एलान किया था। सरकार ने प्राइस सपोर्ट स्कीम (Price Support Scheme) के तहत अरहर, उरद और मसूर दाल खरीदने की 40 फीसदी सीमा को 2023-24 वर्ष के लिए खत्म कर दिया है। अब किसान जितना चाहे उतनी दाल सरकार को प्राइस सपोर्ट स्कीम (PSS) के तहत बेच सकते हैं। सरकार के इस फैसले के बाद उम्मीद की जा रही है कि इस खरीफ सीजन और आने वाले रबी सीजन में इन दालों की बुआई में बढ़ोतरी आएगी।  उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने दालों के उत्पादन को बढ़ाने देने के लिए इस दिशा में निर्देश जारी किए हैं।  इससे किसानों को ये भरोसा हो सकेगा कि उनकी उपज बगैर किसी लिमिट के एमएसपी यानि न्यूनत्तम समर्थम मुल्य (MSP) पर खरीदी जाएगी। एमएसपी पर दालों के खरीद के सरकार के इस आश्वासन के बाद किसान खरीफ रबी सीजन में अरहर, उरद और मूंग दाल की ज्यादा क्षेत्र में बुआई करने के प्रेरित होंगे। दरअसल सीएसीपी ( Commission Of Agriculture Costs and Prices) ने इस खरीफ मार्केटिंग सीजन में धान, रागी, मक्का, अरहर, मूंग और उड़द के एमएसपी में 3 से 8 फीसदी तक की बढ़ोतरी करने की सिफारिश सरकार से की थी। 

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »