28 Jan 2020, 12:22:34 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business

आटो कंपनियों ने पंजाब में नीतिगत सुधारों को सराहा

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Dec 7 2019 1:46AM | Updated Date: Dec 7 2019 1:46AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मोहाली। प्रमुख ऑटो सेक्टर के प्रतिनिधियों ने पंजाब में हो रहे नीतिगत सुधारों की सराहना करते हुये कहा है कि राज्य में निवेश के लिये माहौल अनुकूल है। प्रगतिशील पंजाब इन्वेस्टर्स समिट-२०१९ में पंजाब में मोबिलिटी सैक्टर का भविष्य - चुनौतियां व संभावनाएं विषय पर एक पैनल चर्चा के दौरान, ऑटो उद्योग के प्रमुखों ने आज यहां कहा कि राज्य में निवेश के लिए अनुकूल माहौल है।   परिवहन विभाग के मुख्य सचिव के. शिव प्रसाद ने कहा कि राज्य में औदेगिक अनुकूल नीतियां व हुनरमंद श्रमिक इस क्षेत्र में निवेश को आकर्षित करने में महत्वपूर्ण कारक हैं। पिछले ढाई वर्षों के दौरान राज्य में सैकड़ों करोड़ के निवेश को आकर्षित किया है। उन्होंने राज्य सरकार की नीतियों के बारे में एक विस्तृत प्रस्तुति साझा की, जिसमें पंजाब में निवेश करने वाले उद्योगपतियों को सब्सिडी और अन्य मदद की पेशकश की गई है।    हीरो इलेक्ट्रिक व्हीकल्स प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक नवीन मुंजाल ने कहा कि वास्तव में राज्य में नीतिगत सुधार हो रहे हैं, इस प्रकार ऑटोमोबाइल उद्योग के लिए यहां निवेश करने के लिए एक आदर्श मंच बनाने में मदद मिल रही है।
 
वाल्वो ग्रुप के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक, कमल बाली ने कहा कि ऑटोमोबाइल उद्योग ने पिछले कुछ वर्षों के दौरान काफी बदलाव देखा है। पंजाब में अधिक औद्योगिक इकाइयों का उत्पादन करने की क्षमता है जो औद्योगिक क्षेत्र में परिदृश्य को बदल सकती है। मोबिलिटी सेक्टर के भविष्य के बारे में हाइपरलूप वन के प्रबंध निदेशक हरजिंदर धालीवाल ने कहा कि मौजूदा समय में  हमें अपना ध्यान बाजार की आवश्यकताएं की मांग पर केंद्रित करने की जरुरत है। उन्होंने ट्रैफिक संकट को कम करने के लिए अत्याधुनिक तकनीक का उपयोग करने के महत्व को रेखांकित किया। साइकिल उद्योग के प्रसिद्ध उद्योगपति नवीन मुंजाल ने कहा कि पंजाब, थिओटोमोबाइल क्षेत्र में उद्योगों की वृद्धि के लिए उत्कृष्ट मंच प्रदान करता है। सरप्लस व सस्ती बिजली, सहायक इकाइयों के लिए मजबूत आधार, कुशल मैन पावर व उत्कृष्ट कनेक्टिविटी ने हमारी सफलता में योगदान दिया है। हमने लुधियाना में अपनी वर्तमान इलेक्ट्रिक टू डब्लयू सुविधा में पांच लाख यूनिट तक उत्पादन बढ़ाने की योजना बनाई है। दुनिया भर में बढ़ती सडक दुर्घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए, हेला के प्रबंध निदेशक, रमाशंकर पांडे ने कहा कि ऑटोमोबाइल उद्योग के क्षेत्र में सडक हादसों को कम करने में नवीन आविष्कार सहायक साबित हो सकते हैं। भारतीय ऑटोमोबाइल उद्योग का 76 प्रतिशत टू व्हीलर आधारित है व पुराने तंत्र को नवीनतम तकनीक के साथ बदलकर हम लोगों को सडक दुर्घटनाओं होने से बचा सकते हैं।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »