29 Feb 2024, 21:45:27 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Astrology

गुरुवार को जरूर करें ये काम, विष्णु जी की कृपा से जीवन में धन समृद्धि की कभी नहीं होगी कमी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Dec 6 2023 5:49PM | Updated Date: Dec 6 2023 5:49PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

गुरुवार का दिन भगवान विष्णु की पूजा अर्चना के लिए सबसे उत्तम माना जाता है। हिंदू धर्म में विष्णु जी को त्रिदेवों में एक देव माना जाता है। वैदिक साहित्य में महाविष्णु नाम से जाने जाते हैं। विष्णु भगवान को सर्वशक्तिमान, सर्वव्यापी और सच्चिदानंदघन परब्रह्मा कहा जाता है। वह ब्रह्मा और शिव के साथ हैं और उन्हें त्रिमूर्ति कहा जाता है, जो सृष्टि, स्थिति, और संहार का प्रतीक है। विष्णु भगवान की मुख्य आसन हैं "अंतर्यामी" और "परमात्मा" उनके चार बाहुएं होती हैं, जिनमें एक मुसल और एक चक्र होता है। उनकी आसना "अनंतशयन" कही जाती है, जिस पर अनंत नाग शयन करते हैं। विष्णु भगवान के अनेक अवतार हैं जो लोकप्रिय हैं। कुछ मुख्य अवतारों में मत्स्य, कूर्म, वराह, नृसिंह, वामन, परशुराम, श्रीराम, बुद्ध, कल्कि शामिल हैं। विष्णु भगवान की पूजा और भक्ति हिन्दू धर्म में बहुत लोकप्रिय हैं, और उन्हें विष्णु सहस्त्रनाम स्तोत्र, विष्णु चालीसा, विष्णु पुराण, और भगवद गीता में बताया गया है। विष्णु जी की पूजा से भक्त को शांति, सुरक्षा, समृद्धि, और मोक्ष की प्राप्ति होती है। विष्णु जी के उपायों का पालन करने से व्यक्ति अपने जीवन में शांति, सुख और समृद्धि को प्राप्त कर सकता है, और उनके सभी कष्ट दूर होते हैं।गुरुवार के दिन अगर आप ये उपाय करते हैं तो आपको भगवान का आशीर्वाद जरूर मिलता है। 

विष्णु सहस्त्रनाम स्तोत्र:

विष्णु सहस्त्रनाम स्तोत्र का पाठ विष्णु भगवान की स्तुति के लिए किया जा सकता है। इस स्तोत्र का पाठ करने से मानसिक शांति, आत्मिक समृद्धि, और रोग निवारण में मदद मिलती है।

विष्णु पूजा और अर्चना:

रोज़ विष्णु भगवान की पूजा और अर्चना करना एक शक्तिशाली उपाय है। विष्णु सहस्त्रनाम स्तोत्र के साथ ही विष्णु अष्टोत्तर शतनामावली का पाठ भी किया जा सकता है।

विष्णु याग और हवन:

विष्णु याग और हवन करना भी विष्णु भगवान की कृपा को प्राप्त करने के लिए किया जा सकता है। यह शुभ फल प्रदान कर सकता है और नकारात्मक शक्तियों को दूर करने में मदद कर सकता है।

विष्णु चालीसा और आरती:

विष्णु चालीसा और विष्णु जी की आरती का पाठ भी किया जा सकता है। इन्हें नियमित रूप से पढ़ने से व्यक्ति को मानसिक शांति और आत्मिक उन्नति मिलती है।

विष्णु भगवान की मूर्ति पूजा:

विष्णु भगवान की मूर्ति को पूजना और उन्हें फूल, चन्दन, रोली, कुमकुम, और नैवेद्य से सजाना एक प्रमुख उपाय है।

विष्णु भगवान के मंत्र:

"ॐ नमो भगवते वासुदेवाय" और "ॐ नमः शिवाय" जैसे विष्णु भगवान के मंत्रों का जाप करना भी उनकी कृपा को प्राप्त करने में सहायक हो सकता है।

विष्णु चलीसा पाठ:

विष्णु चलीसा का पाठ करने से भक्ति और आत्मिक उन्नति हो सकती है। यह छवियों में विष्णु भगवान को प्रसन्न करने में सहायक हो सकता है।

विष्णु जी की रात्रि पूजा:

विष्णु जी की रात्रि पूजा का आयोजन करना भी उनकी कृपा को प्राप्त करने में मदद कर सकता है।

विष्णु भगवान के ध्यान:

नियमित रूप से विष्णु भगवान के ध्यान में रहना भी एक उपाय है जो आत्मा को शुद्धि, सुख, और सांत्वना में मदद कर सकता है। ये थे कुछ उपाय जो विष्णु भगवान के श्रद्धाभक्ति में किए जा सकते हैं। इन्हें नियमित रूप से और श्रद्धाभाव से करना चाहिए, ताकि व्यक्ति को भगवान के प्रति प्रेम और भक्ति में वृद्धि हो।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »