09 Aug 2020, 05:36:33 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

सेक्स मशीन के नाम से मशहूर है ये कछुआ, 87 साल में 800 बच्चे पैदा करवा प्लेब्वॉय से बना ब्रम्हचारी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 2 2020 12:31PM | Updated Date: Jul 2 2020 12:32PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

अक्सर आपने किसी ऐसे इंसान के बारे में पढ़ा या सुना होगा, जिसके अंदर सेक्स डिजायर आम लोगों से ज्यादा होती है। ऐसे लोगों को सेक्स एडिक्ट कहते हैं। कई बार ऐसे लोगों को इलाज की जरुरत भी पड़ जाती है। लेकिन अगर किसी कछुए को सेक्स की एडिक्शन हो जाए तो? जी हां, जिस कछुए की बात हम कर रहे हैं उसके अंदर सेक्स की इतनी डिजायर थी कि 100 साल के इस कछुए ने 800 बच्चों का पिता बनने का गौरव हासिल किया। लेकिन अब इस कछुए ने रिटायरमेंट ले ली है। अब ये कछुआ ब्रम्हचर्य का पालन करेगा। यानी अब इसकी मेटिंग किसी मादा कछुआ से नहीं होगी।  

इस कछुए को लोग सेक्स मशीन के नाम से जानते हैं। इसने अपनी सेक्स पावर के कारण 87 साल के अंदर अपनी खत्म होती प्रजाति को फिर से जिंदा कर दिया। डिएगो नाम के इस कछुए ने अभी तक 8 सौ बच्चे का पिता बनने का गौरव हासिल किया है। इस कछुए को 1960 में इक्वाडोर के गालापागोस आइलैंड से लाया गया था। डिएगो को सांता क्रूज़ आइलैंड पर लाने का मुख्य मकसद था इनकी घटती जनसँख्या को फिर से बढ़ाना। डिएगो ने इस काम को बखूबी पूरा भी किया। 

अब 100 साल का हो चुका डिएगो रिटायर हो गया है। अब इसे वापस गालापागोस आइलैंड भेज दिया जाएगा, जहां वो अपनी जिंदगी के आखिरी साल आराम से काट सके। कहा जाता है कि 1933 में डिएगो को कुछ लोगों ने कैलिफोर्निया से पकड़ा था। इसके बाद इसे ब्रीडिंग प्रोग्राम से जोड़ा गया था। 5 फीट का ये कछुआ परफेक्ट ब्रीडर साबित हुआ। उसने अपने इलाके में अपनी प्रजाति के कछुए की जनसँख्या बढ़ा दी है। 

अब बच्चों को पैदा करने के बाद डिएगो वापस अपने घर लौट जाएगा। इसे लेकर इक्वाडोर के पर्यावरण मंत्रालय ने ट्वीट कर उसका घर वापसी पर स्वागत किया है। डिएगो के साथ 15 अन्य मेल कछुओं को भी वापस भेजा जा  रहा है। ये कछुए अपने पेट में जंगली समुद्री पौधों के बीज लेकर इधर उधर फैलाते हैं। जिसकी वजह से काफी समस्या हो रही थी। साथ ही अब इलाके में कछुओं की संख्या भी ठीक-ठाक हो गई है। इस कारण अब इन कछुओं को रिटायर कर दिया गया है।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »