16 Jan 2021, 07:48:33 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Astrology » Vastu Tips

नया घर बनाने से पहले ध्यान में रखें ये 5 वास्तु टिप्स, वरना पड़ेगा पछताना

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 25 2020 12:23AM | Updated Date: Jul 25 2020 12:23AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

वर्तमान समय में, हमारे देश में वास्तु विशेषज्ञों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। वास्तु शास्त्र के अनुपालन को सुनिश्चित करने के लिए उन्हें किन नियमों और सिद्धांतों का पालन करना चाहिए, इस पर उनकी राय अलग-अलग है।  

पूर्व निर्माण : यह सलाह की जाती है कि गृह निर्माण शुरू करने से पहले एक भूमि पूजा कराना जरूरी है। यह एक शुभ शुरुआत मानी जाती है और किसी काम के लिए एक अच्छी शुरुआत होती है।

घर का प्रवेश : घर के प्रवेश के लिए पूर्व सबसे शुभ दिशा है। ऐसा इसलिए है क्योंकि सूर्य पूर्व में उगता है और कहा जाता है कि यह सकारात्मक ऊर्जा और प्रकाश को घर में लाता है। घर के प्रवेश द्वार को उत्तर पूर्व की ओर ही रखना चाहिए।

रसोई घर : घर का दक्षिण-पूर्व कोना रसोई के लिए सबसे आदर्श है और खाना पूर्व की ओर मुंह करते हुए बनाना चाहिए। कृपया ध्यान रखें कि रसोई घर मुख्य दरवाजे के सामने नहीं होनी चाहिए।

मास्टर बेडरूम : मास्टर बेडरूम पूर्व-मुख वाले घर के दक्षिण पश्चिम कोने में स्थित होना चाहिए। स्क्वायर और आयताकार आकार के बेडरूम की सिफारिश की जाती है।

शौचालय का स्थान : शौचालय का स्थान एक और महत्वपूर्ण पहलू है। शौचालय भवन के उत्तर-पश्चिम कोने या कमरों के उत्तर-पश्चिम कोने में स्थित होने चाहिए। यदि यह संभव नहीं है, तो दक्षिण पूर्व में शौचालय की अनुमति है। यह भी सिफारिश की जाती है कि घर में शौचालय, रसोई और पूजा कक्ष एक दूसरे से सटे हुए न हों।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »