14 Apr 2021, 16:12:11 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

भारत जैसे कृषि प्रधान देश में पशुपालन एक अहम आजीविकाका स्रोत है : आनंदीबेन

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 24 2021 12:19AM | Updated Date: Feb 24 2021 12:20AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मथुरा। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि भारत जैसे कृषि प्रधान देश में पशुपालन एक अहम आजीविका का स्रोत है और इसी क्षेत्र में निरन्तर प्रगति ने देश को दुनिया में सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक बनाया है। उन्होंने कहा कि राष्ट्र के विकास के लिए दुग्ध प्रसंस्करण क्षमता को वर्ष 2025 तक दोगुना करने एवं पशुओं को रोगमुक्त करने का लक्ष्य है। इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए पशु विशेषज्ञों को किसानों एवं पशुपालको के बीच समन्वय स्थापित कर नवीनतम तकनीकियों का आदान-प्रदान करना होगा। 

यह विचार प्रदेश की राज्यपाल एवं कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल ने आज यहां प्रदेश पंड़ित दीनदयाल उपाध्याय पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय एवं गो अनुसंधान के दसवें दीक्षान्त समारोह को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए। राज्यपाल ने विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि समाज में प्रचलित कुरीतियों एवं कुप्रथाओं को समाप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायें। युवा देश को अग्रेतर ऊचाँइयों तक पहुंचाने में योगदान करें। 

उन्होंने कहा कि प्रत्येक छात्र का दायित्व है कि वे अपने कर्तव्यों का पालन कर्मनिष्ठा से करें। उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि हर कदम पर चुनौतियों का सामना करते हुए आप एक आत्म विश्वासी नागरिक बनकर उभरेंगे तथा अनुशासन, परिश्रम, ईमानदारी एवं जिम्मेदारियों के पथ पर चलकर आप देश के सामाजिक एवं आर्थिक विकास में एक सशक्त माध्यम बनेंगे। उन्होंने कामना व्यक्त करते हुए कहा कि आप गरीब बच्चों को स्वच्छता, पोषण एवं साक्षर होने के लिए जरूर प्रोत्साहित करें।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »