25 Jan 2021, 07:22:56 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

कोरोना को रोकने में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग व सर्विलान्स सिस्टम महत्वपूर्ण कड़ी: योगी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 23 2020 6:52PM | Updated Date: Nov 23 2020 6:53PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग व सर्विलान्स सिस्टम एक महत्वपूर्ण कड़ी है। 
 
        मुख्यमंत्री आज अपने सरकारी आवास पर कोविड-19 की जांच के लिए राजकीय एवं निजी मेडिकल कॉलेजों में नवस्थापित बीएसएल लैब तथा कोविड-19 व डेंगू के उपचार के लिए एफेरेसिस व केमिल्यूमिनिसेन्स फैसिलिटी का लोकार्पण/शुभारम्भ वर्चुअल माध्यम से किया। 
 
      इस मौके पर 07 निजी मेडिकल कॉलेजों-हिन्द इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज बाराबंकी, इण्टीग्रल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज लखनऊ, रामा मेडिकल कॉलेज एवं रिसर्च इंस्टीट्यूट हापुड़, एफएच मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल फिरोजाबाद, टीएस मिश्रा मेडिकल कॉलेज लखनऊ, हैरिटेज इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज वाराणसी, मुजफ्फरनगर मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरनगर में बीएसएल-2 लैब एवं केमिल्यूमिनिसेन्स फैसिलिटी तथा मेयो इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज बाराबंकी में एफेरेसिस फैसिलिटी का शुभारम्भ किया गया।
 
       राजकीय मेडिकल कॉलेज कन्नौज में बीएसएल-3 लैब, राजकीय मेडिकल कॉलेज प्रयागराज में एफेरिसिस फैसिलिटी, राजकीय मेडिकल कॉलेज आगरा व कानपुर में केमिल्यूमिनिसेन्स फैसिलिटी, राजकीय मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में एफेरेसिस फैसिलिटी एवं केमिल्यूमिनिसेन्स फैसिलिटी, स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय फिरोजाबाद में एफेरेसिस फैसिलिटी एवं केमिल्यूमिनिसेन्स फैसिलिटी का लोकार्पण किया गया।
 
       योगी ने कहा कि वर्तमान सरकार आमजन को बेहतर चिकित्सीय सुविधाएं देने के लिए संकल्पित है। इसके दृष्टिगत, लोगों को उच्चस्तरीय चिकित्सीय सुविधाएं सभी जनपदों में उपलब्ध करायी जा रही हैं। वर्तमान केन्द्र व राज्य सरकार चुनौती को अवसर में बदलने का कार्य कर रही है।
 
      उन्होंने कहा कि पिछले 08 महीने से पूरी दुनिया कोविड-19 से जूझ रही है। प्रदेश सरकार ने बेहतर अन्तर्विभागीय समन्वय स्थापित करते हुए एक कारगर रणनीति बनाई, जिससे बेहतर कोविड मैनेजमेंट की व्यवस्था हो पायी। प्रधानमंत्री जी के कुशल मार्गदर्शन में प्रदेश सरकार ने बेहतर अन्तर्विभागीय समन्वय स्थापित कर कोविड-19 की चुनौती का सामना करने के लिए कारगर रणनीति बनाई, जिसकी सराहना अन्तर्राष्ट्रीय संस्था डब्ल्यूएचओ ने की।
 
        योगी ने कहा कि 23 मार्च,  को प्रदेश की कोविड-19 टेसिं्टग क्षमता मात्र 72 थी जो आज बढ़कर प्रतिदिन 01 लाख 75 हजार टेस्ट तक पहुंच गयी है। अब तक प्रदेश में 01 करोड़ 80 लाख लोगों के कोरोना टेस्ट किये जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना मरीजों के लिए बेहतर सुविधा देने के दृष्टिगत 1.75 लाख से अधिक कोविड बेड स्थापित किये गये हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ अभियान के अन्तर्गत राज्य सरकार द्वारा आज यह नई व्यवस्था प्रारम्भ की जा रही है।  उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 के प्रसार को रोकने में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग व सर्विलान्स सिस्टम एक महत्वपूर्ण कड़ी है।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »