26 Jan 2022, 10:14:51 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business

Share Market: Paytm का शेयर लिस्ट होते ही निवेशकों को हुआ नुकसान, जानें कितना गिरा भाव

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 18 2021 11:44AM | Updated Date: Nov 18 2021 4:51PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मुंबई। Paytm के शेयर आज यानी 18 नवंबर 2021 को BSE और NSE पर कमजोरी के साथ लिस्ट हुए। One97 Communications Ltd के आईपीओ के तहत इसके शेयरों की लिस्टिंग काफी निराशाजनक रही है। BSE पर पेटीएम का शेयर 1955 रुपये और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर 1,950 रुपये पर सूचीबद्ध हुआ है। Paytm के शेयरों की लिस्टिंग BSE पर 9।07 फीसदी और NSE पर 9।30 फीसदी नीचे हुई है। बाजार के जानकारों ने पहले ही कमजोर लिस्टिंग का अनुमान लगाया था। बता दें कि देश की सबसे बड़ी डिजिटल पेमेंट्स कंपनी पेटीएम (Paytm) की पैरंट कंपनी वन 97 कम्युनिकेशन लिमिटेड (One 97 Communications Ltd) का आईपीओ 8 नवंबर को सब्सक्रिप्शन के लिए खुला था और 10 नवंबर को बंद हो गया था। कंपनी इस आईपीओ के जरिए 18,300 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है। पेटीएम के इश्यू का प्राइस बैंड 2,080-2,150 रुपये है। बता दें कि यह IPO सिर्फ 1।89 गुना ही सब्सक्राइब हो पाया था जो कि अनुमान से काफी कम था। कुल इश्यू का 45 फीसदी फंड कंपनी ने एंकर इनवेस्टर्स से जुटा लिया है। पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर शर्मा, जापान का सॉफ्टबैंक, चीन के एंट ग्रुप, अलीबाबा और Elevation Capital कंपनी में अपनी हिस्सेदारी कम करेंगे। विजय शेखर शर्मा इसके जरिए आने वाली राशि का इस्तेमाल QBE Raheja के साथ फाइनेंशियल डील को पूरा करने में करेंगे। 
 
Paytm के इश्यू का 75 फीसदी हिस्सा क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (QIB) के लिए रिजर्व है। हाई नेटवर्थ इनवेस्टर्स के लिए 15 फीसदी और बाकी का 10 फीसदी हिस्सा रिटेल इनवेस्टर्स के लिए रिजर्व है। Paytm की योजना फ्रेश इश्यू से जुटाए गए फंड का इस्तेमाल नए मर्चेंट्स और ग्राहकों को जोड़ने में करने की है। निवेशकों के साथ वैल्यूएशन पर मतभेद के कारण Paytm ने Pre-IPO फंड नहीं जुटाया है। कंपनी के प्रमुख इनवेस्टर्स में अलीबाबा और इसकी सहयोगी एंट ग्रुप के पास 38 प्रतिशत, एलिवेशन कैपिटल के पास 17।65 प्रतिशत और जापान के सॉफ्टबैंक की 18।73 प्रतिशत हिस्सेदारी है। विजय शर्मा के पास लगभग प्रतिशत होल्डिंग है और वह पेटीएम की लिस्टिंग के बाद इसके प्रमोटर नहीं रहेंगे। आज से 5 साल पहले 8 नवंबर, 2016 को देश में नोटबंदी की घोषणा हुई थी और उसका सबसे ज्यादा पेटीएम को ही हुआ था। मौजूदा समय में पेटीएम के देश में 33 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हैं।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »