30 Jul 2021, 23:09:07 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

ट्वीट की आदत छोड़ यूपी में आकर जमीनी हकीकत देखें प्रियंका : सिद्धार्थनाथ

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jun 24 2021 10:04PM | Updated Date: Jun 24 2021 10:04PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता एवं कबीना मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि एयरकंडीशन कमरों में बैठकर ट्वीट के जरिये राजनीति चमकाने की नाकाम कोशिश करने वाली कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को पता होना चाहिये कि योगी सरकार ने इस साल गेहूं की रिकार्ड खरीद की है। सिंह ने गुरूवार को कहा कि महीनों तक उत्­तर प्रदेश की शक्­ल न देखने वाली कांग्रेस की ट्विटरजीवी नेता कब से किसानों का हित सोचने लगी। गमले में गेहूं धान और आलू उगाने की संस्­कृति के पोषक कांग्रेस के नेताओं को यह भी नहीं पता कि योगी सरकार ने उत्­तर प्रदेश के इतिहास में गेहूं खरीद कर सबसे बड़ा इतिहास बनाया है। उनको जानकारी होना चाहिए कि सरकार  कुल 1288461 किसानों से 56.25 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की जा चुकी है।
 
 उन्होने बताया कि गेहूं की खरीद क्रय केन्द्र पर क्रम बद्ध तरीके से बंद की जा रही है। जिन केन्द्रों पर किसान गेहूं लेकर आ रहे हैं। उनसे गेहूं की खरीद की जा रही है। योगी सरकार के कार्यकाल में उत्तर प्रदेश का किसान खुशहाल है। वह तेजी से तरक्की के रास्तों पर बढ़ रहा है, जो कांग्रेस से देखा नहीं जा रहा है। मंत्री ने कहा कि सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने के लिए किसानी को तकनीक से जोड़ने का काम किया गया। अनाज खरीद से बिचौलियों को बाहर कर सीधे किसानों के खातों में अनाज की कीमत भेजी रही है। हर दस किलोमीटर के दायरे में सरकार ने एक खरीद केन्द्र बनाया है, ताकि किसानों को अपनी फसल लेकर दूर न भटकना पड़े। अनाज भेजने वाले हर किसान को 72 घंटे के अंदर भुगतान किया गया है। किसानों, गरीबों और ग्रामीण का बेड़ा गर्त करने वाली कांग्रेस कब से उनकी हितैषी बन रही है।
योगी सरकार ने ई-मंडियों की शुरुआत, ई-पॉप मशीनों का उपयोग जैसी कई अत्याधुनिक सुविधाएं किसानों को दी जा रही हैं। वर्षा की चेतावनी को देखते हुए सरकार ने गेहूं को बचाने के लिये मजबूत तैयारी की है। पहली बार मंडियों में पानी, बैठने के लिये छायादार व्यवस्था से किसानों को राहत मिली है। मंडियों में किसानों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए केन्द्रों पर ऑक्सीमीटर, इफ्रारेड थर्मामीटर व सेनीटाइजर की व्यवस्था की गई है।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »