18 Apr 2021, 13:39:59 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

समाजिक-आर्थिक ताने-बाने को बिगाड़ रही है भाजपा : अखिलेश

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 28 2021 12:14AM | Updated Date: Feb 28 2021 12:14AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी पर देश के सामाजिक एवं आर्थिक ताने-बाने को बिगाड़ने का आरोप लगाते हुए शनिवार को यहां कहा कि अब इसके नेतृत्व वाली केंद्र एवं राज्य सरकारों के फैसलों से भारत के लोकतंत्र को भी खतरा उत्पन्न हो गया है। यादव ने शनिवार को गुरु संत रविदास मंदिर में उनकी 644वीं जयंती पर मत्था टेककर आशीर्वाद लेने के बाद जिला सर्किट हाउस आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया। 

उन्होंने एक सवाल पर भाजपा के साथ ही कांग्रेस पर भी हमला बोला और कहा कि 2022 में सपा किसी भी बड़े दल से चुनावी समझौता नहीं करेगी। वह अपने चाचा शिवपाल यादव की पार्टी समेत छोटे दलों से गठबंधन कर सकते हैं। उन्होंने कहा अगले साल सपा एक फिर राज्य की सत्ता में लौटेगी। ‘‘22 में बाइसिकल’’ नारे के साथ अभी से प्रचार अभियान में उतरी पार्टी के प्रमुख यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकारों के फैसलों से ‘काम, रोजगार और नौकरी’ छीनने का सिलसिला जारी है। किसानों के लिए ‘डेथ वॉरंट’ साबित होने वाले कृषि कानूनों से देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था को बर्बाद करने की खतरनाक कोशिश की जा रही है। 

नोटबंदी एवं जीएसटी की सरकार की मनमानी से व्यापारी ही नहीं आम लोगों की भी कमर टूट गई। बावजूद इसके पांच ट्रिलियन डॉलर अर्थ व्यवस्था वाला देश बनाने का सपने दिखाये गये लेकिन हाल में पेश किये गये केंद्रीय वित्त बजट में उसका जिक्र तक नहीं किया गया। सच्चाई यह है कि अर्थ व्यवस्था दिन प्रतिदिन खराब होती जा रही है। यादव ने राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि प्रदेश की सरकार भी एक ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था की बात करती थी। पांच लाख करोड़ रुपये निवेश के लिए एमओयू हुए तथा डिफेंस कॉरिडोर बनाने जैसे सुनहरे सपने राज्य की जनता को दिखाये गये, लेकिन उनका आरोप है कि हुआ कुछ नहीं। 

आवाज उठाने वालों पर मुकदमें दर्ज कर उन्हें परेशान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की कीमतें आसमान छूती जा रही हैं। पेट्रोल की कीमत 100 रुपये प्रति लीटर गई, वहीं गरीबों को मुफ्त एलपीजी देने वाली स्कीम की हालत यह है कि करीब 1000 रुपये प्रति गैस सिलेंडर होने के कारण गरीब उसे खरीद नहीं पा रहे हैं। इसके बावजूद सत्ताधारी नेताओं की ओर से ऐसे बयान दिये जा रहे हैं, जिससे जनता के गले से नीचे नहीं उतर रहा। कोई मौसम को जिम्मेवार ठहरा रहा है तो कोई और तरह से कुतर्क कर रहा है। 

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि कानूनों के संदर्भ में कहा कि एक कानून से ईस्ट इंडिया कंपनी की सरकार बन गयी थी, अब सरकार कंपनी बनने के रास्ते पर चल रही है। राज्य में सपा सरकार के दौरान बनायी गई मंडियों की अनदेखी की जा रही है। इससे किसानों को उचित मूल्य मिलना नामुमकिन हो गया है। उन्होंने कहा किसान आंदोलन के साथ सपा शुरू से साथ है और आगे भी रहेगी। सरकार ने करीब 10 हजार सपा कार्यकर्ताओं एवं नेताओं के खिलाफ झूठे मुकदमें किये हैं ताकि किसानों के आंदोलन पक्ष में आंदोलन उनकी पार्टी नहीं करे। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ता आगे भी आंदोलन जारी रखेंगे। 

सपा अध्यक्ष ने कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति चरमरा गई है। महिलाएं असुरक्षित महसूस करती है। लोकतांत्रिक अधिकारों की आवाज उठाने वालों पर झूठे मुकदमे किये जाते हैं तो कभी धार्मिक भावनाएं भड़का कर सामाजिक सौहार्द को बिगड़ा जाता है और सरकार मूक दर्शक बनी रहती है। उन्होंने कहा कि गंगा की सफाई के नाम पर दिखावा हो रहा है। नदी में गिरने वाले एक भी गंदे नाले को बंद नहीं किया गया है। इस वजह से प्रदूषण की स्थिति और खराब हो रही है। यादव ने कहा कि सपा पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को समर्थन देगी। इसके लिए वह वहां के अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को तृणमूल कांग्रेस के समर्थन में मतदान करने की अपील करेंगे।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »