05 Mar 2021, 22:40:27 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

निजीकरण के जरिये आरक्षण समाप्त करना चाहती है भाजपा : लल्लू

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jan 20 2021 12:42AM | Updated Date: Jan 20 2021 12:42AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने मंगलवार को कहा कि निजीकरण को बढ़ावा देकर पिछड़ों के आरक्षण को समाप्त करने का काम भारतीय जनता पार्टी सरकार कर रही है। प्रदेश कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग द्वारा 19 अति पिछड़ी जातियों के हक, सम्मान और लोकतंत्र में उनकी भागीदारी के लिए अतिपिछड़ा सम्मेलन में लल्लू ने कहा कि जमींदारी उन्मूलन कानून लागू करके पिछड़ों को जमीन का अधिकार देने का काम कांग्रेस ने किया। 

संविधान में आरक्षण का प्रावधान देकर पिछड़ों को संसाधन में भागीदारी करने का मौका दिया। पिछड़े वर्ग के गरीब छात्रों के लिए छात्रवृत्ति देने की कार्य योजना बनाकर कांग्रेस ने पिछड़े वर्ग के छात्रों को उच्च शिक्षा में भागीदारी दिलायी। कुछ लोग आये और पिछड़ों को नारा दिया ‘जिसकी जितनी संख्या भारी, उसकी उतनी भागीदारी।’ लेकिन यह नारा सिर्फ नारा ही रहा। 

उन्होने कहा कि कांग्रेस के अलावा अन्य पार्टी की नीयत, नियति में अति पिछड़े वर्ग को लेकर कोई कार्यक्रम होता ही नहीं है। सपा, बसपा और भाजपा ने केवट, बिन्द, मल्लाह के नदी, नाले, तालाब के पट्टे का अधिकार इन तीनों ने ही छीना है। इस समुदाय के संसाधनों पर भागीदारी कांग्रेस ही सुनिश्चित कर सकती है। बुंदेलखंड में इसी समाज के लोग कर्ज के चलते खुदकुशी कर रहे हैं। सरकारी नौकरी, विश्वविद्यालयों, केंद्र की नौकरियों में इस समुदाय का प्रतिनिधित्व शून्य है। इस समाज के दम पर सपा, बसपा की दो बिरादरियों ने करोड़ो रूपये कमाए हैं। 

लल्लू ने कहा कि 69000 शिक्षक भर्ती में पिछड़ों के अधिकार पर डाका डाला गया। दलितों, पिछड़ों पर ऐतिहासिक अन्याय हो रहा है। आज संविधान खतरे में है, आरक्षण को खत्म करने का षडयंत्र रचा जा रहा है। सबको एक साथ मिलकर कांग्रेस के साथ चलना होगा। देश, संविधान रहेगा तो आरक्षण और प्रतिनिधित्व भी रहेगा।

सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए पूर्व सांसद राजाराम पाल ने कहा कि अतिपिछड़ों को सत्ता और संसाधन में भागीदारी चाहिए। जो चलने की हिम्मत न करे वो पिछड़ा, जो चलने की सोचे ही नहीं वो अतिपिछड़ा। उन्होने कहा कि धीवर, निषाद, कश्यप, मल्लाह, केवट, कहार, कुम्हार, प्रजापति, बिन्द की संख्या ढाई करोड़ के आसपास है। अति पिछड़ा समाज को मजबूती से कांग्रेस से जुड़ना चाहिए। हक सामने वाले को मजबूर करने से मिलता है। पूर्व सांसद राकेश सचान ने कहा कि अगर सपा, बसपा, भाजपा से ठगे गए हो तो कांग्रेस के साथ मजबूती से खड़ा होना होगा। सपा, बसपा, भाजपा मुर्दाबाद करना होगा।  

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »