09 Aug 2020, 04:38:32 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा- मध्यप्रदेश में अपराध सहन नहीं किए जाएंगे

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 4 2020 11:10PM | Updated Date: Jul 4 2020 11:12PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि राज्य में किसी भी स्थिति में अपराध सहन नहीं किए जाएंगे और अपराधियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। चौहान ने यहां मंत्रालय से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राज्य की कानून व्यवस्था की समीक्षा की। चौहान ने कहा कि कानून व्यवस्था की स्थिति और अपराध बढ़ने के लिए जिम्मेदार और दोषी अधिकारियों को हटाने की कार्यवाही की जायेगी। पुलिस बिना किसी दवाब के काम करे।
 
इसके लिए विशेष अभियान भी चलाया जाए। चौहान ने कहा कि किसी आपराधिक घटना के लिए तो टीआई ही नहीं, वरिष्ठ अधिकारी भी जिम्मेदार होंगे। उन्होंने कहा कि किसी की चिंता न करें, कोई अपराधियों को संरक्षण न दे। जो देगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। आगामी दिनों में आने वाले त्योहारों को ध्यान में रखते हुए भी सावधानी रखी जाए। कानून व्यवस्था प्रथम प्राथमिकता है। चौहान ने कहा कि यदि ऑनलाइन अपराध हो रहे है, उस पर भी ध्यान दिया जाए।
 
दूसरे राज्यों से अपराध होते हैं तो वहाँ के अधिकारियों का सहयोग अपराध खत्म करने में लिया जाए। मध्यप्रदेश शांति का टापू है, यहाँ अपराध बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। अपराधियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई हो। अपराधियों में पुलिस का ŸखौŸफ रहे। मुख्यमंत्री चौहान ने पुलिस अधीक्षकों से कहा कि बदमाशों की सूची बनाइये। ये समाज के दुश्मन हैं। इन पर सख्त कार्यवाही की जाये। चौहान ने कहा कि मानसून का आगमन हो चुका है। ऐसी स्थिति में कुछ जिलों में निचले इलाकों में बाढ़ की स्थिति बनती है।
 
शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में आमजन को बाढ़ से बचाएं, इसके लिए जिला प्रशासन आवश्यक प्रबंध करें। उन्होंने कहा कि बैंक कर्मचारियों के नाम पर कुछ लोग वित्तीय अपराध भी कर रहे, इन्हे रोकें और माफिया, चिट फंड वालों के विरुद्ध भी सख्त कार्यवाही हो। चौहान ने कहा कि अब प्रत्येक सोमवार को मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक के साथ कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक होगी। उन्होंने कहा कि जहाँ भी आवश्यक हो, अपराधियों की संपत्ति जप्त करने की कार्यवाही की जाए। पूर्व वर्षों में ऐसी कार्यवाही की गई है। इसके लिये विशेष अभियान चलाया जाये।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »